General Movie Review News & Updates

एक बार फिर से चला रितिक का जादू, खूब हो रही super30 में उनके किरदार की तारीफ

Super 30 Anand kumar
Written by admin

रितिक रोशन की मोस्ट अवेटेड फिल्म अब सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। जहां बॉक्स ऑफिस पर धमाकेदार कमाई के साथ सुपर 30 फिल्म ने धमाकेदार शुरुआत की है। आपको बता दें कि इस फिल्म में रितिक के साथ साथ मृणाल ठाकुर भी अहम भूमिका में नजर आएंगी। जहां रिलीज होने के बाद लोगों में इस फिल्म के प्रति उत्साह देखा गया। वहीं इस फिल्म ने रिलीज के पहले ही दिन 12 करोड़ कि शानदार कमाई कर ली है। जहां super30 का दूसरा दिन का कलेक्शन 17 से 18 करोड़ तक रहा। आपको बता दें कि यह अभिनय रितिक रोशन के लिए बेहद मुश्किल भरा था जहां ऋतिक के चेहरे के निक बोंन छुपा कर अपने सिक्स पैक एब को ढीले शर्ट में ढक कर पूरे शरीर पर तमाम रंग पोत कर खुद को बिहारी बनाने की कोशिश की………… जिसका जलवा दर्शकों और सिनेमाघरों के बाहर उमड़ी भीड़ को देखकर पता चलता है। आनंद कुमार की कहानी जब पर्दे पर आई तब आनंद कुमार के संघर्षों के साथ-साथ उनके रामानुजम अवॉर्ड और अब्दुल कलाम आजाद शिक्षा पुरस्कार मिलने तक के सफर को बड़े पर्दे पर बेहद खूबसूरत तरीके से दिखाया गया।

पटना के आनंद कुमार पर बनी यह फिल्म super 30

फिल्म super30 सुपर थर्टी एक बायोपिक फिल्म है, जो पटना के मशहूर गणितज्ञ आनंद कुमार की जिंदगी पर आधारित है। आपको बता दें कि इस फिल्म के लिए कई चेहरे सामने घूम रहे थे, लेकिन इसके लिए रितिक रोशन को काबिल समझा गया और इस फिल्म में उन्हें भूमिका निभाने का मौका दिया गया। जिससे ऋतिक ने बखूबी निभाया है। इस फिल्म में आनंद कुमार और उनके जीवन से जुड़ी संघर्षों को दिखाया गया है, जहां आनंद कुमार के जीवन से जुड़े सभी घटनाओं को बड़े पर्दे पर खूबसूरती से दर्शाया गया। फिल्म की कहानी आनंद कुमार ने खुद लेखक के साथ बैठकर लिखवाई है।

फिल्म शुरू होते ही दर्शक जरूर असली रितिक रोशन की कमी महसूस करते हैं, क्योंकि इससे पहले ना तो ऋतिक इस तरह के लुक में नजर आए हैं ना ही उन्होंने इस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है। वही भ्रष्ट शिक्षा मंत्री के किरदार में नजर आए पंकज त्रिपाठी ने भी लोगों का खूब मनोरंजन किया। जहां कम सिन होने के बावजूद भी फिल्म में मृनल ठाकुर की उपस्थिति सब पर भारी पड़ गई है। इसी के साथ फिल्म के कई ऐसे डायलॉग हैं जो इस कहानी को और भी रोचक और मजबूत बनाता है। वहीं दर्शकों की मानें तो फिल्म का फर्स्ट हाफ काफी प्रभावित साबित हुआ है,जहां सेकंड हाफ में यह थोड़ा मेलोड्रामाटिक हो जाता है, जिसकी वजह से कहानी थोड़ी लंबी हो जाती है। वहीं इस फिल्म को देखने के बाद कई लोगों को ऋतिक के अंदर आनंद कुमार की भोजपुरी भी खटकती नजर आई। जहां लोगों ने इस विषय को लेकर जमकर ऋतिक की आलोचना की।

Leave a Comment