General News & Updates Poilitics

नहीं रही पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, दिल का दौरा पड़ने से निधन

नहीं रही पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, दिल का दौरा पड़ने से निधन
Written by admin

67 वर्ष की सुषमा स्वराज जो भारत की पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता रह चुकी हैं। वही आपको बता दें कि अस्पताल के सूत्रों के अनुसार उन्हें बेहद नाजुक हालत में एम्स में देर रात 10:00 बजे लगभग भर्ती कराया गया।

भारत के लिए जिन्होंने शानदार पारी खेली और भारत को एक नए मुकाम पर ले गई, आज वह सुषमा स्वराज हमारे बीच नहीं है।यह शायद यकीन करने वाली बात नहीं है, क्योंकि जब ऐसी खबर टीवी पर दिखने लगी तब लोग यही मान रहे थे कि यह खबर झूठी है, लेकिन होनी को कौन टाल सकता है।

नहीं रही पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, दिल का दौरा पड़ने से निधन

67 वर्ष की उम्र में पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज जिन्होंने दिल्ली की पूर्व सीएम से लेकर केंद्रीय मंत्रिमंडल में महत्वपूर्ण पदों की जिम्मेवारी संभाल चुकी थी और शायद स्वास्थ्य का ही कारण था जिसकी वजह से उन्होंने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा।

67 वर्ष की सुषमा स्वराज जो भारत की पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता रह चुकी हैं। वही आपको बता दें कि अस्पताल के सूत्रों के अनुसार उन्हें बेहद नाजुक हालत में एम्स में देर रात 10:00 बजे लगभग भर्ती कराया गया।

जाने सुषमा स्वराज से जुड़ी कुछ बातें:-

  1. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को अटल बिहारी वाजपेई की पहली सरकार में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय जैसे महत्वपूर्ण पद मिला था। हालांकि यह सरकार ज्यादा नहीं चली। केवल 13 दिनों में ही गिर गई।
  2. दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री के रूप में वे सामने आई, जहां वह 1998 में दिल्ली की सीएम बनी।
  3. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पीएम नरेंद्र मोदी की पहली सरकार में विदेश मामलों का मंत्री बनाया गया था। जहां सुषमा स्वराज ने अपने इस पद पर 5 साल तक कार्यरत रही थी।
  4. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज देश की पहली महिला नेता भी थी, जो विपक्ष की नेता रही। 15वीं लोकसभा में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख नेता लालकृष्ण आडवाणी की जगह ली थी।
  5. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अभी तक 7 बार संसद सदस्य चुनी जा चुकी है। जहां उन्हें बेहतरीन सांसद होने का अवॉर्ड भी दिया जा चुका है।
  6. मूक बधिर किशोरी गीता को पाकिस्तान से वापस लाने में भी सुषमा स्वराज और उनके मंत्रालय का अहम रोल रहा।जहां गीता को गले लगा लगाए हुई तस्वीर अभी भी सबके जहन में हैं।
  7. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के नाम ही राष्ट्रीय स्तर की राजनीतिक पार्टियों की पहली प्रवक्ता होने का गौरव भी प्राप्त है।
  8. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण शैली और वाक्य का कोई जोर नहीं था। जब भी वह बोलती थी तो विपक्ष भी सन्न रह जाता था। उनकी जवाब ऐसे होते थे, कि उसके काट के लिए विरोध को सूचना पड़ जाता था।
  9. संयुक्त राष्ट्र के मंच पर पाकिस्तान को लताड़ ने वाली पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की उस भाषण शैली को शायद कभी कोई भी भूल नहीं सकता। उन्होंने आतंकवाद के मुद्दे पर यूएन में पाकिस्तान को बेनकाब किया था।
जाने सुषमा स्वराज से जुड़ी कुछ बातें:-

सुषमा स्वराज की आखिरी ट्वीट ने पूरे हिंदुस्तान की आंखों में आंसू ला दिए

अपने निधन से पहले सुषमा स्वराज ने एक ट्वीट किया था जो एम्स में उन्हें ले जाने से 3 घंटे पहले किया गया। इस बीच जिस लिहाज में उन्होंने कहां है इससे यह तो आभास हो ही गया था कि वह इस दुनिया को छोड़ कर जाने वाली है।आपको बता दें कि उन्होंने अपने इस ट्वीट के में जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन विधेयक को लेकर बातें कहीं… जहां सुषमा ने ट्वीट किया था कि “प्रधानमंत्री जी आपका हार्दिक अभिनंदन.. मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी”।वहीं डॉक्टरों ने बताया कि दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया है।

आज दोपहर 3:00 बजे होगा अंतिम संस्कार

आज दोपहर 12:00 बजे उनका पार्थिव शरीर भाजपा मुख्यालय लाया जाएगा। जहां दोपहर 3:00 बजे पार्थिव शरीर को लोधी रोड श्मशान घाट ले जाया जाएगा।आपको बता दें कि पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

पीएम नरेंद्र मोदी सहित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जताया शोक

पीएम नरेंद्र मोदी सहित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जताया शोक

गहरा दुख प्रकट करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने सुषमा स्वराज के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि भारतीय राजनीति के 1 अध्याय का अंत हो गया है।सुषमा स्वराज जी अपने तरह की अलग महिला थी। जिन्होंने अपना जीवन सार्वजनिक सेवा और गरीबों के जीवन को समर्पित कर दिया था।वहीं दूसरी ओर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके निधन पर शोक जताया।जहां उन्होंने लिखा कि श्रीमती सुषमा स्वराज के निधन के बारे में सुनकर काफी धक्का लगा देश ने एक बहुत ही प्रिय नेता को खो दिया है। वहीं सुषमा स्वराज को गरिमा साहस और अखंडता का प्रतीक बताते हुए ऐसी महिला बताया जो हमेशा दूसरों की मदद के लिए तैयार रहती थी। वह भारत के लोगों के प्रति अपनी सेवा के लिए हमेशा याद किए जाएंगे। दिल का दौरा पड़ने के बाद पूर्व विदेश मंत्री

Leave a Comment