General Health

विटामिन ए की कमी ,लक्षण और इसे दूर करने के उपाय

विटामिन ए की कमी ,लक्षण और इसे दूर करने के उपाय
Written by admin

विटामिन ए हमारे लिए बहुत ही जरूरी माना जाता है। जहां इसकी कमी से हमारे शरीर में तरह तरह के रोग पनपने लगते हैं। जहां इसकी कमी होने पर हमें स्किन, बालों और आंखों से जुड़ी हुई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। हमारे शरीर के लिए विटामिन और खनिज पदार्थ जरूरी माने जाते हैं। जहां एक स्वस्थ शरीर के लिए विटामिन ए बहुत जरूरी है।

विटामिन ए हमारे लिए बहुत ही जरूरी माना जाता है। जहां इसकी कमी से हमारे शरीर में तरह तरह के रोग पनपने लगते हैं। जहां इसकी कमी होने पर हमें स्किन, बालों और आंखों से जुड़ी हुई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। हमारे शरीर के लिए विटामिन और खनिज पदार्थ जरूरी माने जाते हैं। जहां एक स्वस्थ शरीर के लिए विटामिन ए बहुत जरूरी है। आपको बता दें कि विटामिन ए की मात्रा कम होने पर हमारा शरीर कुछ संकेत देने लगता है। अगर समय रहते इन संकेतों को न समझा जाए तो आपको बहुत ही समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

विटामिन ए के लक्षण:-

  1. यदि आपके शरीर में विटामिन ए की कमी है तो इससे आपके बाल झड़ने लगते हैं या बहुत ही ड्राई हो जाते हैं।
  2. कई बार ऐसा देखा गया है कि विटामिन ए की कमी होने से आपकी आंखों में चुभन, खुजली जैसी समस्या होती है और आंखों की पुतलियों कमजोर होने के साथ-साथ आंखों की रोशनी भी कम हो जाती है।
  3. आपको विटामिन ए की कमी से इन्फेक्शन होने का भी खतरा रहता है। जहां आपको हर वक्त सर्दी, जुकाम जैसी समस्या हो सकती है।
  4. विटामिन ए की कमी की वजह से आंखों में जलन, सूजन भी होती है। इससे पलको एवं आंखों के आसपास के उत्तम प्रभावित होते हैं। इसके साथ कॉर्निया में भी जलन या सूजन की शिकायत हो सकती हैं।
  5. विटामिन ए की कमी की वजह से बच्चों का शारीरिक विकास रूक जाता है। वही आपको बता दें कि यदि आपकी त्वचा में रूखापन महसूस होने लगता है तो यह विटामिन ए की कमी के संकेत हो सकते हैं।
  6. विटामिन ए पुरुषों और महिलाओं दोनों के प्रजनन के लिए आवश्यक है। साथ ही साथ शिशुओं में उचित विकास भी होता है।यदि आपको गर्भवती होने में परेशानी हो रही है तो विटामिन ए की कमी इसका कारण हो सकता है।
  7. जिन बच्चों को पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए नहीं मिलता है। वह वृद्धि का अनुभव नहीं कर सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि मानव शरीर समुचित विकास के लिए विटामिन ए आवश्यक है।
  8. बार-बार संक्रमण विशेष रूप से गले या छाती में विटामिन ए की कमी का संकेत हो सकता है।

विटामिन ‘ए’ की कमी के कुछ अन्य लक्षण:-

आंखों में जखम
  1. थकावट
  2. योनि संक्रमण
  3. घाव धीरे और देर से भरना
  4. दस्त, मूत्राशय में संक्रमण
  5. आंखों में जखम
  6. आंखों में आंसू आना
  7. फटे हुए होंठ

विटामिन ए की कमी के कारण

विटामिन ए की कमी के कारण
  1. कुपोषण- इसे सबसे बड़ा कारण माना जाता है, जहां दुग्ध उत्पाद का कम सेवन करने वालों को विटामिन ए की कमी का खतरा रहता है। हमें बताया जाता है कि पशुओं से मिलने वाले हाथ पदार्थ को कुछ सब्जियों में विटामिन ए प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसे हमें अवश्य सेवन करना चाहिए।
  2. मां के दूध में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए होता है। जिन बच्चों को मां का दूध उपलब्ध नहीं हो पाता है। उन्हें इसकी कमी हो जाती है जिससे उन बच्चों को पोषण तत्व नहीं मिल पाते हैं।
  3. शराब पीने से भी विटामिन ए की कमी हो जाती है। वही बता दे कि जिन लोगों को लंबे समय तक वसा के पाचन की समस्या होती है उन्हें विटामिन ए की कमी होने की संभावना भी बढ़ जाती है।
  4. पर्याप्त आहार नहीं रहने के कारण 5 सालों से छोटे बच्चों में विटामिन ए की कमी अक्सर हो जाती है। जिसके कारण दिखना बंद हो जाता है। इसके अलावा कई अन्य दुखद परिणाम आ सकते हैं।
  5. विटामिन ए की कमी से शरीर की बाहरी और अंदरूनी त्वचा में सूखापन और कड़ापन आ सकता है| यह कमी स्वसन तंत्र पाचन तंत्र या मूलसन के लिए हानिकारक हो सकती है।

विटामिन ए की कमी से बचाव

  1. आहार में गहरे रंग की पत्तेदार सब्जियां, गहरे रंग के फल जैसे संतरा, पपीता और गाजर, कद्दू जैसे आहार का सेवन अवश्य करना चाहिए।
  2. अतिरिक्त विटामिन ए वाला दूध और अनाज, कलेजी, अंडे की जर्दी और मछली का तेल भी लाभदायक माना जाता है।
    आहार में वसा से विटामिन ए का अवशोषण बेहतर होता है।
  3. जितना हो सके जंक फूड से बचना चाहिए। ज्यादा मसालेदार और ऑइली पकवानों से भी दूरी बनाए।
  4. यदि नवजात शिशुओं को दूध से एलर्जी हो तो उन्हें बाहर के दूध में विटामिन ए पर्याप्त मात्रा में दिया जाना चाहिए।
  5. गर्भ अवस्था में अधिक मात्रा में विटामिन ए की आवश्यकता का ध्यान रखें।
    शिशु को स्तन का पहला दूध अवश्य पिलाएं इससे भी स्तनपान जरूर करें।

विटामिन ए युक्त पदार्थ

  1. शकरकंद
  2. कलेजी
  3. विटामिन ए युक्त दूध
  4. पालक
  5. ब्रोकली
  6. मछली का तेल
  7. खूब गहरी रंग वाली सब्जियां
  8. गाजर

अब आपको हम विटामिन ए की कमी से होने वाले रोगों से अवगत कराएंगे

रतौंधी

रतौंधी

अंधापन

एनेमिया

पेशाब की नली में संक्रमण

रोग प्रतिरक्षा प्रणाली में कमजोरी

Leave a Comment