General Life & Relationship

शादीशुदा लोगों को किस बात का पछतावा सबसे ज्यादा होता है।

शादीशुदा लोगों को किस बात का पछतावा सबसे ज्यादा होता है।
Written by admin

एक शादीशुदा रिश्ते में यह बेहद जरूरी होता है, कि आप एक दूसरे की इज्जत करें, एक दूसरे को समझे, ताकि बिना कहे ही आप एक दूसरे की मन की बात को जान पाए, लेकिन इज्जत और भरोसे ना करके आप अगर एक दूसरे से ढंग से बात नहीं करते, किसी भी सवाल का जवाब पलटकर उल्टे तरीके से देते हैं, तो यह कहीं ना कहीं आपकी शादीशुदा जिंदगी पर भी असर डालती है। जहां ज्यादा बदतमीजीया होने पर कई बार लोगों को केवल पछतावा ही होता है।

शादीशुदा लोगों को किस बात का पछतावा सबसे ज्यादा होता है।

शादी एक पवित्र बंधन है, जहां यह दो लोगों के दिल को एक साथ मिलाता है। उन्हें आजादी से अपनी होने की अनुमति देता है। जहां लोग शादी के बंधन में बंधते ही एक दूसरे के सुख और दुख के साथ हो जाते हैं। मगर कई बार कई कारणे आ जाती है, जिसमें लोगों को पछतावा होता है।जहां हम कुछ ऐसे कारण बताने जा रहे हैं, जिसकी वजह से आप जान पाएंगे कि आखिर शादीशुदा लोगों को किस बात से पछतावा ज्यादा होता है।

शादी के बंधन में बंधते ही एक दूसरे के सुख और दुख के साथ हो जाते हैं।
  1. ज्यादा बदतमीज होना

एक शादीशुदा रिश्ते में यह बेहद जरूरी होता है, कि आप एक दूसरे की इज्जत करें, एक दूसरे को समझे, ताकि बिना कहे ही आप एक दूसरे की मन की बात को जान पाए, लेकिन इज्जत और भरोसे ना करके आप अगर एक दूसरे से ढंग से बात नहीं करते, किसी भी सवाल का जवाब पलटकर उल्टे तरीके से देते हैं, तो यह कहीं ना कहीं आपकी शादीशुदा जिंदगी पर भी असर डालती है। जहां ज्यादा बदतमीजीया होने पर कई बार लोगों को केवल पछतावा ही होता है।

2. एक दूसरे पर भरोसा ना करना

यह बेहद जरूरी होता है कि आप अपनी शादीशुदा जिंदगी में एक दूसरे पर भरोसा दिखाएं और एक दूसरे की आदतों और बातों पर भरोसा करें।यदि आप बार-बार किसी बात पर शक करते हैं कि आपका साथी कहां जा रहा है, क्या कर रहा है तो यहां आपके रिश्ते की नींव खत्म हो जाती है और कई बार विश्वास ना होने पर एक दूसरे के साथ यही चलता रहता है और बाद में काफी मुसीबतें आते हैं।

3. गुस्सा ज्यादा आना

इस बात से कोई अंजान नहीं है कि गुस्सा हमारे कितने काम बिगड़ता है। गुस्सा करने से केवल और केवल नुकसान ही है जो सिर्फ और सिर्फ आपका ही होता है। वैसे ही एक शादीशुदा जिंदगी में अपने साथी पर गुस्सा करना, हमेशा उस पर चीखना चिल्लाना यह सारी आदतें आपके रिश्ते की नींव को खराब कर देती है और केवल पछतावा के सिवा आपके पास और कोई विकल्प नहीं बचता। इसलिए अपने गुस्से को काबू में रखें।

4. पर्सनल स्पेस

लड़का हो या लड़की हर किसी की जिंदगी में पर्सनल स्पेस होना चाहिए। मगर ऐसा देखा गया है कि शादी के बाद लोगों की जिंदगी में पर्सनल लाइफ कैसा कुछ नहीं रहता। जहां वह बिना बताए किसी को कोई भी काम नहीं कर सकते। जहां उन्हें कहीं ना कहीं किसी न किसी के परमिशन की जरूरत होती है। तब जाकर उन्हें अफसोस होने लगता है कि शादी के बाद तो उनकी लाइफ में कुछ रहा ही नहीं….. जहां सब कुछ बदल चुका होता है।

5. बच्चे की जल्दबाजी

यह केवल एक तरफ से नहीं होता है। इसके लिए परिवार और समाज भी पूर्ण रूप से जिम्मेदार माना जाता है। जहां शादी होते ही उन पर बच्चों का दबाव बनाया जाता है। फिर समाज या परिवार या कई बार तो अपने पति के दबाव में आकर लड़की को यह फैसला लेना पड़ता है। इस तरह के दबाव में खासकर लड़कियां यह सोचने लगती है कि शादी ना की होती तो अच्छा होता।

6. बीते हुए कल से तुलना करना

एक शादीशुदा जिंदगी में कलेश होने का सबसे मुख्य कारण यही है, कि लोग बीते हुए कल से आज की तुलना करते हैं। आपको बता दें कि यदि शादी से पहले लड़की किसी रिलेशनशिप में रह चुकी है तो वह हमेशा अपने पति और पूर्व प्रेमी के बीच तुलना करती है। केवल इतना ही नहीं ऐसे में कई बार उन्हें लगता भी है कि उसका प्रेमी उसकी पति की तुलना में बेहतर था। अब ऐसी सोच से दूरियां आनी तो तय है।

7. हर वक्त डिमांड करना

हमें बचपन से यह समझा कर पाल पोस कर बड़ा किया जाता है कि हमेशा जितना है, या जितना मिले उसी में खुश रहो। कभी भी अनुपस्थित चीजों के लिए डिमांड नहीं करना,लेकिन एक रिश्ते में अक्सर ऐसी परेशानी होती है जहां पति की कमाई से ज्यादा पत्नी की डिमांड होती है। ऐसे में उन्हें यह समस्या होगी। इसलिए जो मौजूद है उसी में खुश रहने की कोशिश करें और सामने वाले को भी तकलीफ ना दे।

8. दूसरों की इच्छा रखना

कई बार देखा गया है कि शादीशुदा होने के बाद भी लोग दूसरे की इच्छा रखते हैं। जहां वह शायद अपनी जिम्मेदारी और यह भूल जाते हैं कि उनके जीवन में पहले से कोई है। ऐसे में एक शादीशुदा जिंदगी में साथी के होने के बाद भी एक दूसरे इंसान की इच्छा करना आपके रिश्ते को खोखला कर देता है।

9. चाह कर भी खुश ना रख पाना

कई बार लोग अपनी सारी कोशिशें आजमा चुके होते हैं अपने साथी को खुश करने की……… लेकिन वह हमेशा नाकामयाबी होते हैं। जहां उन्हें यह महसूस होने लगता है कि वह शायद अपने साथी को कभी भी खुश नहीं रख पाएंगे।

10. बेरोजगारी

यह भी पछतावा का एक मुख्य कारण सामने आया है। जहां आपको बता दें कि लोग अपने पैरों पर ढंग से खड़े भी नहीं होते हैं और परिवार वाले उनकी शादी करवा देते हैं। ऐसे में शादी के बाद जब बच्चे होते हैं और काफी जिम्मेवारी उन पर आती है तब जाकर उन्हें अपनी बेरोजगारी का वास्तव में एहसास होता है। जिससे बड़ा पछतावा कुछ भी नहीं हो सकता।

Leave a Comment