Health

आयुर्वेद का दस महत्व जो वास्तव में आपके जीवन को बेहतर बना देगा।

Importance of Ayurveda
Written by admin

आयुर्वेद का दस महत्व जो वास्तव में आपके जीवन को बेहतर बना देगा।

हमारे जीवन में हमें स्वास्थ्य के प्रति अधिक सचेत रहना पड़ता है क्योंकि अच्छे स्वास्थ्य की मदद से ही हम किसी भी काम को पूर्ण रूप से कर पाते हैं और जीवन में अपनी भूमिका निभाते हैं। जहां आज इतने सालों बाद भी इतने तरह के केमिकल ने हमारे जीवन में दस्तक दे दी है। हम हर रोज ना जाने कितने केमिकल्स का सेवन करते हैं, जिससे हमारे शरीर को ना जाने कितना नुकसान होता है। ऐसे में हमारे दैनिक जीवन में आयुर्वेदा बहुत महत्व रखता है। जहां हम आपको उस महत्व के बारे में बताएंगे कि कैसे आयुर्वेदा हमें स्वस्थ एवं रोग मुक्त जीवन जीने में मदद करता है:-

हमारे दैनिक जीवन में आयुर्वेदा का महत्व

  1. आयुर्वेद बीमारियों के इलाज के लिए सदियों से पारंपरिक अर्थों में चिकित्सा की एक प्रणाली मानी जाती है। आयुर्वेद हमें हमेशा हमारी जागरूकता को बेहतर बनाता है, जहां हम अपने पूरे मानव क्षमता से जीवन जी सकते हैं। आयुर्वेद में हम प्राकृतिक से बने सिद्धांतों का उपयोग करके व्यक्ति को अपने स्वयं के सच में वापस लाने में सहायता करता है। यह पूरी दुनिया में उपचार का प्राचीन रूप है जो हमारे जीवन में काफी महत्व रखता है।
  2. आयुर्वेद हमारे शरीर से विषाक्त तत्वों को तेजी से हटाने में मदद करती है। यदि हमें कोई बीमारी होती है तो आयुर्वेद हमें अपने स्वास्थ्य को जल्दी ठीक करने में सक्षम बनाता है। आयुर्वेद का मुख्य लक्षण रोकथाम के साथ-साथ रखरखाव और संतुलन के लिए शरीर की अपनी क्षमता को बढ़ावा देना है। जहां आयुर्वेद चिकित्सा का उद्देश्य शरीर, मन और आत्मा को एकीकृत और संतुलित करना है। यह विशेष रूप से शारीरिक और मानसिक समस्याओं का इलाज करता है।
  3. आयुर्वेद हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जो हमारे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और रोगों को ठीक करने की ताकत रखता है। आयुर्वेद उपचार तेल और आम मसालों सहित जड़ी-बूटियों और अन्य पौधों पर निर्भर करता है। आयुर्वेद उन रोगों के शुरुआती चरणों का पता लगाने का तरीके को पेश करता है जो अभी भी चिकित्सा जांचो से अनपेक्षित है, जो शरीर, मन और आत्मा में जीवन की संपूर्णता का ज्ञान है।
  4. आज ऐसा कोई नहीं जो रोग से पीड़ित नहीं हो, दिनोंदिन बीमारियां बढ़ती जा रही है। इसकी वजह है जीवन शैली में बदलाव हो रहा है। आयुर्वेद पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो रहा है। चिकित्सा विज्ञान में हर बीमारी के लिए आयुर्वेद में दवाएं हैं। जहां शरीर के अंगों के अनुसार उनके बेहतर तरीके से देखभाल किया जाता है। यह आज के दौर में बेहद जरूरी है कि यह सभी मनुष्य को जानना चाहिए। तथा इसे अपने निजी जिंदगी में अपनाना भी चाहिए।
  5. जोड़ों के दर्द में आयुर्वेद से अच्छी चिकित्सा कोई हो ही नहीं सकती है। जहां जोड़ों के दर्द होने पर इसके दर्द सूजन को कम करने के लिए विभिन्न प्रकार की आयुर्वेद औषधि तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। एक पुरानी चिकित्सा पद्धति के तौर पर जाने वाली आयुर्वेदिक पुरानी चिकित्सा पद्धति है, जहां आज ऐसी कोई बीमारी नहीं जिसका इलाज आयुर्वेद में नहीं है। आपको बता दें कि पूर्वजों द्वारा दी गई हमारे पास काफी आयुर्वेदा और उसके उपचार मौजूद है।
  6. हमारे पास पीपल का पेड़ आज भी एक आयुर्वेद के तौर पर जाना जाता है। इसके पत्तों को काढ़ा या चाय बनाकर प्रतिदिन पीने से हृदय रोगों में बहुत लाभ मिलता है। इसके साथ ही हमारे दिल की कमजोरी को दूर करता है। इसके फायदे सिर्फ यहीं तक सीमित नहीं है। जब हमारे शरीर के किसी अंग में सूजन जैसी समस्या हो तो यह बहुत लाभदायक होता है। इसकी छाल को यदि आप काढ़ा के तौर पर पिए तो किडनी से जुड़ी समस्याओं के साथ साथिया चर्म रोग में भी बहुत फायदेमंद होता है।
  7. हमेशा से ही डिमांड में रहने वाला पपीता का पत्ता आज भी हर किसी के लिए लाभदायक साबित होता है। पपीता का फल तो उपयोगी है यह सब जानते हैं लेकिन उससे भी ज्यादा उपयोगी होता है उसका पत्ता, जो जानलेवा डेंगू में बहुत उपयोगी साबित होता है।इसके साथ यह प्लेटलेट्स की संख्या को भी तेरी से बढ़ाता है।
  8. और अब बात करते हैं अनार की जो कि एक ऐसा फल है जो विशेषकर खून की कमी को दूर करने के लिए सलाह दी जाती है, लेकिन इसके पत्ते भी इतने ही उपयोगी होते हैं।आपको बता दें कि इसके पत्तों के रस को हथेली और तलवों की जलन में लगाने से बहुत फायदा मिलता है।
  9. बेल तो अधिकतर पूजा पाठ में इस्तेमाल किए जाने वाला फल है। लेकिन यह लोगों के बीच काफी मशहूर है, क्योंकि इसकी पत्तियों का चूर्ण बवासीर में उपयोगी साबित होता है। सिर्फ इतना ही नहीं यदि आप इसके पके फल का शरबत पीते हैं तो पाचन तंत्र के लिए

Leave a Comment