Health

नशा क्या है, नशा से मुक्त होने के घरेलू उपचार एवं उसके साइड इफेक्ट

नशा क्या है, नशा से मुक्त होने के घरेलू उपचार एवं उसके साइड इफेक्ट
Written by admin

लत बुरी चीज है। नशे की लत हमें तो नुकसान पहुंचाती है ही साथ-साथ परिवार और करीबियों को भी नुकसान पहुंचाती है…

नशा क्या है, नशा से मुक्त होने के घरेलू उपचार एवं उसके साइड इफेक्ट

नशा क्या है, नशा से मुक्त होने के घरेलू उपचार एवं उसके साइड इफेक्ट

नशा करना एक बुरी चीज है और नशे की लत होना यह उससे भी खतरनाक है, जो आपके साथ साथ परिवार और करीबियों को भी दुख और परेशानियों के भंवर में खींच लाती हैं। आपको बता दें कि शराब, सिगरेट, ड्रग्स या गुटखा का सेवन थोड़ी मात्रा में भी शरीर को नुकसान पहुंचाता है, लेकिन जब यह लत बन जाता है तो स्थिति काबू से बाहर होने लगती है। इसी लत के कारण इंसान अंदर से बेहद कमजोर और बीमार हो चुका होता है तो आइए जानते हैं कि कैसे इस नशे को घरेलू उपचार के माध्यम से धीरे-धीरे खत्म कर सकते हैं। एवं इसके साइड इफेक्ट्स क्या क्या है:-

शराब

1. मन में ठाने

जब तक आप खुद से नहीं चाहेंगे कोई भी आप का नशा नहीं छुड़ा सकता है। इसलिए सबसे पहले या ठान ले कि आप नशा छोड़ना चाहते हैं। शुरू में अपने बात पर टिके रहना थोड़ा मुश्किल हो सकता है, लेकिन अपने मन को मजबूत रखें। आपको बता दें की लत छोड़ने की वजह को दिन में बार-बार मन में दोहराएं, हो सके तो ऐसी जगह पर लिखकर उसे लगा दे जहां आपकी नजर बार-बार पडती हो।

2. दूरी बनाए

किसी भी तरह के नशे को छोड़ने के लिए पहली उसकी मात्रा कम करें। इसके अलावा अपने पास लाइटर, माचिस, गुटके की पुड़िया तंबाकू रखना छोड़ दे। एक डायरी बनाएं और उसमें लिखे कि नशा कब और कितनी मात्रा में किसके साथ लेते हैं। इसके अलावा अगर किसी खास मौके या किसी खास शख्स के साथ आप ज्यादा नशा करते हैं तो उसे नजरअंदाज करें, ताकि आप आसानी से अपनी आदत छुड़ा सके।

3. परिवार व दोस्तों की मदद ले

परिवार की बात आने पर इंसान कई बार थोड़ा भावुक हो जाता है। इसलिए अपने परिवार का फोटो सामने रखे और उस पर बार-बार निगाह डाल कर देखें कि आप परिवार के लिए और परिवार आपके लिए कितनी अहमियत रखता है। इसके अलावा अपने सभी दोस्तों और परिजनों से कह दे कि आपने शराब, सिगरेट या गुटखा छोड़ दिया है। इनके सेवन के लिए आपको मजबूर न करें।

4. दूसरे ऑप्शन तलाशें

अगर आप बहुत ज्यादा सिगरेट या गुटके की आदि है तो इनकी जगह सौंफ, इलायची भी आप ले सकते हैं, लेकिन जो लोग कभी कबार शौकिया स्मोकिंग करते हैं तो उन्हें दवाओं का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसलिए हमेशा सकारात्मक रहे। अपनी पसंदीदा किताबों को पढ़ें। सबसे जरूरी चीज स्मोकिंग या अल्कोहल के नुकसान बताने वाली बुक अपने पास रखें, दिल को खुश करने वाली फिल्में देखें और गाने सुनें।

5. लगातार कोशिश करें

नशे की लत को छोड़ने की कोशिश एक या दो दिन की नहीं होनी चाहिए। आपको लगातार इसके लिए प्रयास करना करते रहना चाहिए, तभी जाकर आप सकारात्मक परिणाम पा सकते हैं। इसके लिए आपको मन में ठान लेना होगा कि आप नशा छोड़ना चाहते हैं और किसी भी कीमत पर इसे फिर से नहीं अपनाएंगे।

तंबाकू छोड़ने के घरेलू उपचार

तंबाकू छोड़ने के घरेलू उपचार
  1. नींबू का आधा चम्मच रस एक गिलास पानी में मिलाकर दिन में कई बार ले।
  2. चुटकी भर सौठ पानी के साथ दिन में 2 बार ले।
  3. अदरक और काली मिर्च को शहद और नींबू के साथ मिला कर लेना नशे के पीड़ितों के लिए फायदेमंद है।
  4. पानी में 4 घंटे भिगोए रखी गई किशमिश को सुबह-शाम खाएं।
  5. शुरुआती स्टेज में पंचकर्म के जरिए भी शरीर की शुद्धि की जाती है।
  6. एलोवेरा लिवर के लिए फायदेमंद है, जबकि अश्वगंधा तंत्रिका तंत्र और मस्तिष्क को पुष्ट बनाता है।
  7. मरीज को भ्रम की स्थिति से निकालने के लिए ब्रह्म ही मुलेठी का सेवन फायदेमंद है।

नशा करने के दुष्प्रभाव

नशा करने के दुष्प्रभाव

नशा का दुष्प्रभाव काफी खतरनाक होता है, जिसकी चपेट में युवा पीढ़ी लगातार बीमार हो रही है। जहां शराब, सिगरेट, तंबाकू एवं ड्रग जैसे जहरीले पदार्थ का सेवन कर युवा वर्ग का एक बड़ा हिस्सा नशे का शिकार हो रहा है।

  1. नशा करने वाला व्यक्ति सबसे ज्यादा दुर्घटनाओं का शिकार होता है।
  2. नशा करने वाला व्यक्ति अपनी समाज एवं परिवार से बिल्कुल दूर हो जाता है।
  3. नशा करने वाला व्यक्ति आर्थिक, मानसिक एवं शारीरिक सभी तरह से कमजोर होता है।
  4. नशा करने वाला व्यक्ति हमेशा चिढ़ा हुआ और मानसिक तनाव से ग्रसित होता है।
  5. नशा करने वाला व्यक्ति सदैव अपने ख्यालों में ही रहता है।
  6. काम-धंधा छूट जाता है।
  7. परिवार में कलह शुरू हो जाती है।

Leave a Comment