Health

Kidney stone:- Health guidelines in Hindi.

Kidney stone causes symptoms, treatment, and prevention. Health guidelines in Hindi.
Written by admin

किडनी हमारे शरीर में सफाई का काम करती हैं। गंदगी बाहर निकालने के साथ Kidney में होने वाले stones को पेशाब के साथ बाहर निकला जा सकता हैं।

Kidney stone - Health guidelines in Hindi.
Kidney stone – Health guidelines in Hindi.

Kidney stone Health guidelines in Hindi.

Contents hide
3 किडनी की बीमारी – Kidney disease
3.7 किडनी स्टोन में होने वाले दर्द – Kidney stone pain

हमारे शरीर में सफाई का काम करती हैं। यह गंदगी बाहर निकालने वाले सिस्टम का एक बहुत अहम हिस्सा हैं। दोनों किडनियों में खून साफ होता है। हमारी दोनों किडनियों में छोटे-छोटे लाखों फिल्टर होते हैं, जिन्हें नेफरोंस (nephron) कहते हैं। नेफरोंस (nephron) हमारे खून को साफ करने का काम करते हैं। Kidney में होने वाले stone को आसानी से पेशाब के साथ बाहर निकल जाते हैं। किडनी के अन्य कामों में लाल रक्त कण (Red blood cells) का बनना और फायदेमंद हार्मोंस रिलीज करना शामिल हैं। किडनियों द्वारा रिलीज किए गए हार्मोंस द्वारा ब्लड प्रेशर नियंत्रित होता है और हड्डियों के लिए बेहद जरूरी विटामिन डी का निर्माण किया जाता है।

Read this also….8 STEPS TO FINDING THE PERFECT WINTER CARE IN HINDI

किडनी कहाँ स्थित है – Where is kidney Located

Kidney पेट के अंदर पीछे के हिस्से में रीड की हड्डी के दोनों तरफ छाती की पसलियों के सुरक्षित तरीके से स्थित होती है। किडनी राजमा के आकार में 1 जोड़ी अंग है। वयस्कों में किडनी लगभग 10 सेंटीमीटर लंबी, 6 सेंटीमीटर चौडी और 4 सेंटीमीटर मोटी होती है। यह लगभग 150 से 170 ग्राम होता है। स्त्री और पुरुष दोनों में किडनी का स्थान और कार्यप्रणाली एक समान ही होती है।

Read this also….20 THINGS YOU SHOULD KNOW ABOUT CHOLESTEROL CONTROL

किडनी की बीमारी – Kidney disease

किडनी की बीमारी का मतलब है कि आपकी किडनी खराब हो गई है और वे उस तरह से खून नहीं बना सकती है जैसे कि उसे बनाना चाहिए। यदि आपको मधुमेह उच्च रक्तचाप है तो आप गुर्दे की बीमारी के लिए अधिक जोखिम में है यदि आप गुर्दे की विफलता का अनुभव करते हैं तो उपचार में गुर्दा प्रत्यारोपण या डायलिसिस शामिल है गुर्दे की अन्य समस्याओं में गुर्दे की चोट गुर्दे के अल्सर गुर्दे की पथरी और गुर्दे में संक्रमण शामिल है।

Read this also….SKIN DISEASE:- TYPES, CAUSES, SYMPTOMS, AND TREATMENT

पथरी के लक्षण – Kidney stones symptoms

Kidney stone symptoms
Kidney stone symptoms

1. लगातार दर्द के साथ पेशाब आना – Frequent urination with pain

गुर्दे की पथरी से पीड़ित लोग अक्सर लगातार दर्द के साथ पेशाब आने की शिकायत करते हैं। ऐसा तब होता है जब गुर्दे की पथरी मूत्र में मूत्राशय से चली जाती है। यह अक्सर मूत्र पथ के संक्रमण का कारण भी बनता है जिससे काफी परेशानियां होती है।

Read this also….21 SIGNS YOU WORK WITH AMAZING PSYCHOLOGICAL FACT ABOUT BRAIN

2. पीठ में दर्द – Back Pain

एक सामान्य तरीके से पीठ में दर्द होना चिंताजनक नहीं है, लेकिन यह दर्द यदि गंभीर रूप से होने लगे तो यह किडनी में पथरी का संकेत हो सकता है। जहां इसमें विशेषकर कमर और कमर के निचले हिस्से में दर्द होती है। यह दर्द कुछ मिनटों और घंटों तक बना रहता है। जहां बीच-बीच में आराम भी मिलता है।

Read this also….THE 10 THINGS ABOUT LUNG CANCER AND CAUSES FOR HAVING LUNG CANCER.

3. किडनी और पेट में सूजन – Kidney and stomach swelling

किडनी में पथरी के लक्षणों में यह मुख्य है। जिसमें हमें सूजन एवं तेज दर्द महसूस होती है। किडनी कायाफ्रॉम निकट शरीर के नीचे दोनों ओर स्थित होती है और शोन होने पर आप क्षेत्र या पेट और कमर के क्षेत्र में सूजन महसूस कर सकते हैं। जिसकी वजह से आपको हमेशा सूजन की वजह से उस जगह पर दर्द बना रहता है।

Read this also….महिलाओं में कमजोरी के कारण, लक्षण, एवं उपाय – WOMEN WEAKNESS IN HINDI.

4. बैठने में परेशानी – Difficulty in Sitting

कई बार किडनी स्टोन के उस क्षेत्र पर दबाव पड़ने के कारण रोगी को बैठने में परेशानी महसूस होती है।यहां तक कि वह आरामदायक स्थिति में लेटने में असमर्थ महसूस करता है। आपने इस बात को गौर नहीं किया होगा लेकिन बता दे कि यही कारण है कि जिसकी वजह से उसडनी न्यूटन से पीड़ित कई लोग अक्सर खड़े रहते हैं।

Read this also….VAGINAL ITCHING: 11 THING YOU’RE FORGETTING TO DO – योनि में खुजली के लक्षण

5. मतली और उल्टी – Nausea and Vomiting

यह किडनी स्टोन के शुरुआती संकेतों में देखा जाता है। जहां इसमें मिचली आना और कई बार उल्टियां भी हो सकती है। आपको बता दें कि उल्टियां दो कारणों से आती है। पहला स्टोन के स्थानांतरण के कारण और दूसरा किडनी शरीर के भीतर की गंदगी को बाहर करने में मदद करते हैं जब आपके स्टोन अवरुद्ध हो जाते हैं।

Read this also….पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग रोकने के घरेलू उपाय- HEAVY BLEEDING IN PERIODS.

किडनी स्टोन में होने वाले दर्द – Kidney stone pain

Kidney stone pain
Kidney stone pain

Kidney Stone का दर्द आपके मूत्र पथ में पथरी की वजह से होता है। जहां यह दर्द आपको कभी भी हो सकता है। कैल्शियम और यूरिक एसिड के मिलने से क्रिस्टल रूप में बनने वाली पथरी मूत्र पथ में कहीं भी निर्मित हो सकती है। आपको बता दें कि पथरी का आकार अलग अलग भी हो सकता है। जहां कई पथरियों का आकार काफी छोटा होता है, लेकिन जब पथरी बड़ी होती है तो इनका बड़ा आकार आपके लिए तेज दर्द का कारण बन सकता है।

यह सवाल कई लोगों के मन में होता है कि आखिर पथरी का दर्द क्या होता है तो आपको बता दें कि मूत्र पथ में रुकावट आने की वजह से पथरी का दर्द महसूस होने लगता है, जो कि मुख्य रूप से मूत्र वाहिनी में होता है। जहां मूत्र वाहिनी में पथरी होने के कारण प्रभावित जगहों के उत्तरों में खिंचाव आने लगता है। जिसके कारण इससे प्रभावित क्षेत्र में सूजन आ जाती है और पथरी के कारण मूत्र के सामान प्रवाह में बाधा आने लगती है। इस स्थिति में तेज दर्द महसूस होने लगता है।

Read this also….HEART-HEALTHY DIET PLAN IN HINDI:- SOME FOODS THAT PREVENT HEART DISEASE.

किडनी स्टोन में लिया जानेवाला आहार – Kidney stone diet Plan

तो हम आपको Kidney Stone में लेने वाले कुछ आहारो के बारे में बताएंगे।

Read this also…रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के तरीके (METHODS TO INCREASE IMMUNITY POWER).

1. सौंफ – Aniseed

Green Fennel Seeds
Green Fennel Seeds

Kidney Stone के लिए सौंफ रामबाण माना जाता है। यह आपकी किडनी को साफ सुथरा रखने में मदद करता है। इसके लिए सौंफ मिश्री और सूखा धनिया 50-50 ग्राम मात्रा में लेकर रात को डेढ़ लीटर पानी में भिगोकर रखें और 24 घंटे बाद इसे छानकर पेस्ट बनाएं। फिर आधा कप पानी में एक चम्मच पेस्ट मिलाकर पिए।

Read this also….WEIGHT LOSS DIET PLAN IN HINDI – वजन कम करने के आसान उपाय

2. बेलपत्र – Aegle Marmelos leaf

Aegle Marmelos leaf

यह भी काफी रूप से प्रभावशाली माना जाता है। जहां बेलपत्र को पानी के साथ पत्थर पर घिसे और इसे सुबह के वक्त साबुत काली मिर्च के साथ खाएं। लगातार 7 दिन तक इसका सेवन करें, लेकिन दिन के अनुसार काली मिर्च की एक-एक मात्रा बढ़ाते जाए।इससे 2 सप्ताह में पथरी निकल जाती है।

Read this also….SUPERFOODS FOR HEALTH:- 25 FOODS TO INCLUDE IN OUR DIET PLAN

3. पत्ता गोभी – Cabbage

Cabbage

इस बात से हर कोई अवगत है कि पत्ता गोभी खाने से किडनी साफ रहने में मदद मिलती है और विषैले तत्व बाहर की ओर निकल जाते हैं। इसमें पोटेशियम की मात्रा कम होती है और विटामिन की मात्रा अधिक होती है इसके माध्यम से यह किडनी स्टोन मे बहुत ही फायदेमंद साबित होता है और पथरी को जल्द ही ठीक करता है।

Read this also….TYPHOID FEVER: CAUSES, SYMPTOMS, AND HOME TREATMENT IN HINDI.

4. बथुआ – Bathua

Bathua

आप बथुआ का इस्तेमाल भी पथरी को खत्म करने के लिए कर सकते हैं। आधा किलो बथुआ को 800 मिली पानी में उबालकर कपड़े या चाय की छलनी में छानले। बथुआ को भी अच्छी तरह मसलकर मिलाएं और आधा चम्मच काली मिर्च व सेंधा नमक मिलाकर दिन में तीन से चार बार इसका सेवन करें। इससे गुर्दे की पथरी निकल जाती है।

Read this also….HOW TO GAIN WEIGHT FAST BY HOME REMEDIES AND AYURVEDIC TREATMENT

5. आंवला – Amla

Amla

आप इसे किसी भी तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं। जहां आप आंवला का चूर्ण और मूली का प्रयोग एक साथ करके गुर्दे की पथरी को आसानी से निकाल सकते हैं। आपको बता दें कि इस में एल्ब्यूमिन और सोडियम क्लोराइड की मात्रा बहुत ही कम होती है, जो पथरी के उपचार के लिए पूरी तरह से फायदेमंद है।

Read this also….HOW TO CHECK PREGNANCY AT HOME IN HINDI. प्रेगनेंसी चेक करने के घरेलू तरीके

किडनी स्टोन होने के कारण – Causes of kidney stones

  1. किडनी रोग कैंसर और एचआईवी के इलाज के लिए ली जा रही दवाओं से भी पथरी हो सकती है।
  2. मूत्र में कैल्शियम, ऑक्सलेट व यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने से भी किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है।
  3. अधिक मात्रा में प्रोटीन, नमक या ग्लूकोस युक्त डाइट करना ।
  4. थायराइड का होना
  5. वजन का अधिक होना
  6. बाईपास सर्जरी का कराना
  7. डिहाइड्रेशन का होना
  8. अनुवांशिकता
  9. भौगोलिक स्थान
  10. आहार
  11. दवाएं
  12. अंतवृहित्त बीमारियां
  13. निर्जलीकरण
  14. पारिवारिक इतिहास
  15. कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाने वाले इन्फ्लेमेटरी रोग

Read this also….IRREGULAR PERIODS: POSSIBLE CAUSES OF A MISSED PERIOD IN HINDI.

गुर्दे की पथरी के लिए घरेलू उपचार – Home remedies for kidney stones

kidney stones से छुटकारा पाने के घरेलू उपचार बताने जा रहे हैं, जो काफी उपयोगी माना जाता है।

Read this also….STOMACH BLOATING SYMPTOMS, CAUSES, REMEDIES IN HINDI.

1. नींबू का रस और जैतून का तेल – Lemon juice and olive oil

घरेलु उपचार मे पथरी का इलाज करने के लिए नींबू का उपयोग काफी रूप से कारगर रहेगा, क्योंकि नींबू के रस में मौजूद सिट्रिक एसिड किडनी स्टोन को बाहर निकालने में मदद कर सकता है। वहीं जैतून तेल की चिकनाई पथरी को मूत्र मार्ग से निकालने में काफी रूप से मददगार साबित होती है। इसके मिश्रण को दिन में दो बार ले।

Read this also….AMAZING PSYCHOLOGICAL FACTS ABOUT HUMAN BEHAVIOUR.

2. अनार का जूस – Pomegranate juice

यह पथरी में दवा की तरह काम करता है। बता दे कि अनार की शक्तिशाली ऑक्सीडेंट्स प्रभाव शरीर को किडनी को डिटॉक्स करने में मदद करती है। इसके अलावा यह मूत्र प्रणाली को रेगुलेट करने और पेशाब को की जलन को कम करने का काम भी कर सकता है। अनार का नियमित सेवन किडनी स्टोन को बाहर निकालने में मदद कर सकता है।

3. तुलसी- Basil Leaves

यह घरेलू और आयुर्वेदिक उपचार के तौर पर उपयोगी है। इसके लिए आप तुलसी का सहारा ले सकते हैं। इसे किडनी स्टोन के लिए आप इसका सही से सेवन करें तो यह पथरी की समस्या से निजात दिलाने का काम करता है। इसके अलावा आप 1 दिन में दो से तीन बार तुलसी का चाय पी सकते हैं। यह भी प्रभावी हो सकता है।

4. तरबूज – Watermelon

तरबूज ऐसा फल है। जिसमें पोटेशियम पाया जाता है, जो किडनी को मजबूत बनाने में सहायक होता है। इसके अलावा यूरिन में एसिड लेवल को सामान रखता है। इसके सेवन से हमारे शरीर में पानी की मात्रा बढ़ती है और पथरी यूरिन द्वारा निकल जाता है। तरबूज के रस में एक चौथाई चम्मच धनिया का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

5. प्याज का रस – Onion juice

प्याज का रस कई तरह से हमारे लिए फायदेमंद होता है।जिनमें से यह मुख्य है जहां प्याज को एक गिलास पानी में डालकर धीमी आंच में उबालें,पकने पर उसे ठंडा कर ले अब प्याज को पीस ले और छानकर रस निकालकर 1 से 2 दिन तक नियमित रूप से पिए। किडनी स्टोन में किन चीजों से करें परहेज कई बार गलत खानपान से भी किडनी की पथरी बढ़ जाती है। वहीं यदि आपका खान-पान सही है तो यह मूत्र के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाती है इसलिए इस समस्या से बचने के लिए यह भी मानना जरूरी है कि किन चीजों से परहेज करें:-

  • गन्ना
  • चोकर के बिना चपाती
  • गाजर
  • नींबू
  • नारियल पानी
  • मूली
  • हर्बल टी
  • बहुत अधिक प्रोटीन
  • विटामिन सी का सेवन
  • कोल्ड ड्रिंक
  • फाइबर युक्त आहार

किडनी क्या कार्य करता है – What does kidney do

Function of Kidney
Function of Kidney

किडनी हमारे शरीर में महत्वपूर्ण अंग है, जो मूत्र के रूप में शरीर को बेकार पारित करने में मदद करता है। वह हृदय को वापस भेजने से पहले रक्त को फिल्टर करने में भी मदद करता है।इतना ही नहीं आपको बता दें कि किडनी समग्र द्रव संतुलन बनाए रखता है और रक्त से खनिजों को विनियमित और फिल्टर करता है। वही भोजन दवाओं और विषाक्त पदार्थों से अपशिष्ट पदार्थों को छानने में किडनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। किडनी हमारे शरीर में हार्मोनल बनाता है, जो लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करने में मदद करता है जो कि हमारे शरीर में हड्डी के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है और रक्तचाप को नियंत्रित रखता है।

किडनी फेल होने के लक्षण क्या-क्या होते हैं – What are the symptoms of kidney failure?

आजकल गुर्दे खराब होने की समस्या तेजी से बढ़ रही है।जहां कई बार लोग किडनी फेल होने के लक्षण ना पता होने के कारण वह इस बीमारी का शिकार हो रहे हैं तो आपको बताते हैं किडनी फेल होने के लक्षण जिससे आप इस बीमारी को पहले ही जान सकते हैं।

  1. इस बीमारी में पेशाब आने की मात्रा बढ़ती या कम होती है। इसके अलावा बार-बार पेशाब आने का एहसास होना मगर करने पर पेशाब ना आना भी किडनी फेल होने के लक्षण माने जाते हैं ।
  2. रक्त में विषैले पदार्थ के जमा होने के कारण इस में सूजन के साथ-साथ रैशेज और खुजली की समस्या हो जाती है।
  3. किडनी के काम न करने के कारण शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी हो जाती है। जिसके कारण हमारे शरीर में ऑक्सीजन की कमी होने के कारण सांस लेने में तकलीफ होने लगती है।
  4. इस बीमारी के कारण खून में आयरन की कमी पर शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है। जिससे आपको एनीमिया की समस्या हो जाती है जिसके कारण आपको बार-बार चक्कर और उल्टी आती रहती है।
  5. इस बीमारी के कारण आंखों में दर्द और दिमाग पर प्रेशर बढ़ने लगता है। गुर्दे की पथरी के लिए ट्रीटमेंट

आपको बता दें कि गुर्दे की पथरी का उपचार पत्थर के आकार पर निर्भर करता है कि यह किस चीज से बना है…… क्या यह दर्द पैदा कर रहा है और इसके साथ ही क्या यह आपके मूत्र पथ को अवरुद्ध कर रहा है। आप के परीक्षा परिणाम से पता चलता है कि आपकी किडनी स्टोन छोटी है तो आपको डॉक्टर दवा लेने के लिए कह सकता है और आपके मूत्र मार्ग से पथरी को बाहर निकालने में मदद करने के लिए बहुत सारे तरल पदार्थ भी सकता है। वहीं यदि आपके गुर्दे की पथरी बड़ी है या यदि यह आपके मूत्र पथ को अवरुद्ध कर रहा है तो इसके लिए अतिरिक्त उपचार आवश्यक हो सकता है।

किडनी इन्फेक्शन – Kidney infection

जब बैक्टीरिया आपकी किडनी में प्रवेश करता है तो यह संक्रमण का कारण बन सकता है। आपको बता दें कि किडनी में संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया आमतौर पर आपके मूत्राशय मूत्र वाहिनी या मूत्र मार्ग जैसे आपके मूत्र पथ के दूसरे हिस्से से आते हैं जहां किडनी एक समय में एक किडनी आपके दोनों किडनी को एक ही समय में प्रभावित कर सकता है। इसलिए किडनी इन्फेक्शन का इलाज जल्द से जल्द कराना बहुत जरूरी होता है।

किडनी परीक्षणों का अवलोकन – overview of kidney function tests

आपने इस में देरी की तो आपकी किडनी पूरी तरह से खराब हो सकती है और इतना ही नहीं यह आपके शरीर के अन्य हिस्सों में भी फैल सकती है। जिससे भी आपको गंभीर संक्रमण हो सकता है। बता दें कि यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि आपकी किडनी ठीक से काम नहीं कर रही है तो आपके गुर्दों समारोह परीक्षणों की आवश्यकता हो सकती है। यह सरल रक्त और मूत्र परीक्षण है जो आपके गुर्दे के साथ समस्याओं की पहचान कर सकता है। आपको किडनी फंक्शन टेस्टिंग की आवश्यकता हो सकती है। यदि आपके पास अन्य स्थितियां हैं जो किडनी को नुकसान पहुंचा सकती है जैसे कि मधुमेह, उच्च रक्तचाप, आपको बता दें कि किडनी विटामिन डी, लाल रक्त कोशिकाओं और हार्मोन जो रक्तचाप को नियंत्रित करता है।

किडनी मे होने वाले दर्द – Kidney Stone Pain

हमने यह देखा कि किडनी में दर्द के कारणों का निदान रोगी के इतिहास शारीरिक परीक्षण और प्रयोगशाला परीक्षणों के साथ किया जाता है। हमारे शरीर में गुर्दों को बेहद महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। शरीर की गंदगी बाहर करने के अलावा गुर्दों का काम हमारे शरीर में बनने वाले अम्ल की मात्रा को भी निर्धारित करना होता है, ताकि हमारा रक्तचाप नियंत्रित रहे। आपको गुर्दे की एक खास बात बता दे कि वह बिना किसी बड़ी वजह के दर्द नहीं देती। मतलब अगर गुर्दों में या उनके आसपास के हिस्सों में यदि दर्द हो रहा हो तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

आयुर्वेदा मे किडनी का इलाज – Kidney Stone treatment in Ayurveda

अब आयुर्वेद में गुर्दा रोगियों का उपचार संभव है। औषधीय पौधा पुनर्नवा से बनी आयुर्वेदिक दवाएं गुर्दे की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को पुनर्जीवित कर सकती हैं। हालांकि यह उपचार गुर्दे की खराबी का आरंभ में पता चलने पर ज्यादा प्रभावी होगी। अब तक हुए दो अध्ययनों में इसकी पुष्टि हुई है। आयुष मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि ‘वर्ल्ड जर्नल ऑफ फार्मेसी एंड फार्मास्युटिकल साइंसेज’ में बीएचयू का एक शोध प्रकाशित हुआ है, जिसमें गुर्दे की बीमारी से पीड़ित एक महिला को एक महीने तक पुनर्नवा सीरप दिया गया। इससे उसके रक्त में क्रिएटिनिन का स्तर 7.1 से घटकर महज 4.5 एमजी रह गया, जबकि यूरिया का स्तर 225 से घटकर 187 एमजी तक आ गया। इतना ही नहीं हीमोग्लोबिन का स्तर 7.1 से बढ़कर 9.2 हुआ। शोध परिणाम में पुष्ट हुई कि पुनर्नवा से बनी दवा से गुर्दे की बीमारी ठीक होती है बल्कि यह हीमोग्लोबिन भी बढ़ाती है।

सेब का सिरका कैसे किडनी के उपचार में लाभदायक है – How apple vinegar is beneficial in kidney stone treatment

सेब का सिरका काफी तेज़ होता है, जिसे पानी के साथ घोल कर पीने से कई बीमारियों का नाश होता है। यह नए किडनी स्‍टोन को बनने से भी रोकता है। यह पाचन क्रिया को भी दुरुस्‍त करता है, जिससे हाइड्रोक्‍लोरिक एसिड शरीर के अंदर जमा नहीं हो पाता, जो कि एसिड बनाने का कार्य करता है। एप्‍पल साइडर वेनिगर पीने से कुछ ही दिनों में पेशाब की नली दृारा गुर्दे की पथरी घुल कर निकल जाती है। अब आइये जानते हैं कि एप्‍पल साइडर वेनिगर को को हम किन किन चीज़ों के साथ प्रयोग कर सकते हैं।

Leave a Comment