Health

Psychological facts about human behaviour in Hindi.

Amazing psychological facts about human behaviour.
Written by admin

मनोवैज्ञानिक तथ्यों के बारे में हम जितना जानेंगे वह कम ही होता है, क्योंकि हर विषय पर आज ऐसे ऐसे मनोवैज्ञानिक तथ्य मौजूद हैं जिसे जानकर आप अपना कौशल भी बढ़ा सकते हैं

Amazing psychological facts about human behaviour.

Amazing psychological facts about human behaviour.

Psychological facts के बारे में हम जितना जानेंगे वह कम ही होता है, क्योंकि हर विषय पर आज ऐसे ऐसे psychological facts मौजूद हैं। जिसे जानकर आप अपना कौशल भी बढ़ा सकते हैं और सभी चीजों के बारे में पूर्ण रूप से जरूरी ज्ञान भी प्राप्त कर सकते हैं, तो आइए आज हम आपको कुछ ऐसे Amazing psychological facts से अवगत कराने जा रहे हैं जो human behaviour से पूरी तरह जुड़ा हुआ है।

Read this also….MOOD BOOSTING FOOD FOR DEPRESSION:- 9 FOODS THAT BOOST YOUR MOOD.

Some Psychological facts about human behaviour:-

Some Psychological facts about human behaviour:-

1. दिखावा एक भ्रामक

यह एक सबसे खास प्रवृत्ति होती है। जो मानव में खासतौर पर पाई जाती है कि वे अच्छे दिखने वाले लोगों पर ज्यादा यकीन करते हैं। चाहे फिर वह व्यक्ति असल में कैसा भी हो। उनके दिखावे से उनके आचरण का पता लगाना human behaviour में से एक माना जाता है। जहां दिखावा करना और जो चीजें सामने नहीं है उसे दर्शाके लोगों का दिल आसानी से जीता जा सकता है।

Read this also…HIGH BLOOD PRESSURE:- SYMPTOMS, CAUSES, AND HOME REMEDIES IN HINDI

2. अमीर लोगों को बुद्धिमान मानना

दिन रात मेहनत करने वाले लोगों की तुलना में हम अमीर और सफल लोगों को अधिक बुद्धिमान मानते हैं, क्योंकि एक human thought के माध्यम से आपको बताए तो हमारे दिमाग में जो हमेशा चलते रहता है कि अमीर लोग अधिक समझदार और विश्वास के लायक होते हैं। क्योंकि एक human behaviour क्या कहता है कि जो भी व्यक्ति आजीविका कमाने में सक्षम नहीं होता है उसे बुद्धिमान होने का हक नहीं दिया जा सकता है।

3. आत्म सम्मान की कमी के कारण मानव दूसरों को नीचा दिखाते हैं

यह बात पूरी सच्चाई से भरी है कि मानव जिनमें आत्म सम्मान की कमी होती है और वह जो खुद के बारे में आश्वस्त नहीं होते हैं ऐसे लोग दूसरों को अपमानित करने की कोशिश करते है, क्योंकि इस human behaviour के कारण भले ही सफलता खुद के दम पर मिली हो पर विफलता के लिए हम हमेशा दूसरों को ही दोषी मानते हैं। इसके साथ ही जब भी हमारा मनचाहा कार्य पूरा नहीं होता है तो इसके लिए भी हम दूसरों को ही ताना मारते हैं और उसे कोसते हैं।

4. दूसरों को दोष देना

हमें दूसरे लोगों के अजीब व्यवहार के लिए उसे दोष देने में ज्यादा समय नहीं लगता है। एक ओर जहां हम गलत आचरण करने के लिए दूसरों पर आरोप लगाते हैं वहीं दूसरी ओर हम जल्दी ही अपने unacceptable behavior के लिए बहाने बनाने लगते हैं, लेकिन आपने कभी यह पता करने की कोशिश की है कि आखिर इंसान इस तरह का behaviour क्यों करता है। क्योंकि अधिकतर human में यह प्रवृत्ति पाई जाती है जिसे ज्यादातर लोग सही नहीं मानते हैं तो कई लोग इससे कतराते हैं।

5. जल्दबाजी में लिए गए फैसले हमेशा सही नहीं होते

यह मानव कि उन प्रवृत्तियों में से एक माना जाता है जब वह किसी भी बात पर बहुत जल्दबाजी में फैसला ले लेते हैं, जिसके लिए बाद में उन्हें अपने निर्णयों पर अफसोस होता है। भले ही आप के निर्णय आपके लिए क्या परिणाम लेकर आए हैं, लेकिन आप बहुत जल्दबाजी में निर्णय लेने की गलती कर देते हैं। हमें अक्सर इस बात का भी बहुत अफसोस होता है कि हमने परिणाम से पहले योजना प्रक्रिया में अधिक समय खर्च करना था, जो कि हमने नहीं किया है।

6. आत्मसम्मान की कमी

यह मानव प्रवृत्ति की एक ऐसी खूबी होती है जो आप कई बार देख सकते हैं। जिन लोगों में आत्म सम्मान की कमी होती है उन्हें दूसरों को अपनी उपलब्धियों के बारे में बताने की जरूरत होती है, ताकि वे अपनी उपलब्धियों को सार्थक बना सके। वही आपको यह भी बता दे कि जिन लोगों में आत्म सम्मान होता है वे अपनी उपलब्धियों को में आंतरिक गर्व महसूस करते हैं। क्योंकि यह उन्हें बहुत अच्छे से ज्ञात होता है कि उन्हें अपनी उपलब्धियों को दूसरों से बता कर कुछ नहीं होना……..जो भी करना है वह खुद के दम पर कर सकते हैं।

some psychological study about human behaviour

अब आइए जानते हैं कुछ चौकाने वाले psychological facts जिसे पहले आपने कभी नहीं सुना होगा:-

amazing psychological fact about human behaviour

1.कहां जाता है कि जब हम किसी को अपने लक्ष्यों के बारे में बताते हैं तो वह अक्सर पूरे नहीं हो पाते हैं, क्योंकि उसके बाद तब हम अपना ध्यान उस लक्ष्य की तरफ से हटा देते हैं।

2. रात को सोने से पहले जो आखिरी इंसान हमारे दिमाग में रह जाता है वह या तो हमारी खुशी का कारण होता है या तो हमारे दुख का…….क्योंकि सोते वक्त या तो बहुत अच्छी यादें या कुछ बुरी यादें ही इकट्ठा होती है।

3. हम अक्सर किसी गाने को अपने पसंदीदा बना लेते हैं वह इसलिए क्योंकि कहीं न कहीं वह आपकी अपनी जिंदगी की घटना से जुड़ा होता है। जिससे आप आसानी से संबंध कर सकते हैं।

4. हमारे कपड़े हमारी मनो स्थिति पर आधारित होती है। इसलिए जब भी कभी हम अच्छे से तैयार होते है तो हमें खुशी मिलती हैं और इसके साथ हम हमेशा अपने ऊपर सकारात्मक महसूस करते हैं।

5. Human में 18 से 33 वर्ष के लोगों में सबसे ज्यादा स्ट्रेस देखा जाता है। जहां इन वर्षों के लोगों में ज्यादातर मरीज stress की समस्या से पीड़ित होते हैं। वही बता दे कि 33 साल के बाद stress level कम होने लगता है।

6. हास्य कि एक मजबूत भावना आमतौर पर बुद्धिमता और इमानदारी से जुड़ी होती है। यही कारण है कि ज्यादातर महिलाएं उन पुरुषों की ओर आकर्षित होती हैं, जिनके पास हास्य की मजबूत भावना होती हैं।

7. जब भी human को यह प्रतीत होता है कि उसे कोई देख रहा है तो वह मास्क पहनने का नाटक करता है। इससे तात्पर्य है कि जब किसी व्यक्ति को यह पता चलता है कि उसे देखा जा रहा है तो वह बहुत अच्छे से बर्ताव करने लगता है, लेकिन वही बर्ताव बिल्कुल अलग तब हो जाता है जब किसी को यह लगता है कि उसे कोई नहीं देख रहा है।

8. यह मानव कि आम प्रवृत्तियों में से एक माना जाता है। जहां वह काम जटिल लगने पर उसे वह बीच में ही छोड़ देता है। अगर एक व्यक्ति को अपने घरेलू जरूरतों के लिए उत्पादों के बीच चयन करने के लिए दिया जाए और इस स्थिति में वह जटिलता का अनुभव करता है तो वह निश्चित तौर पर कुछ भी खरीदने से पहले ही सब कुछ खत्म कर देगा।

9. भारत अधिकांश पुरुष शारीरिक संबंध के लिए और महिलाएं आर्थिक सुरक्षा के लिए विवाह करती हैं और एक दूसरे को झेलने का एकमात्र कारण यह जरूरतें ही हैं…….. पर कई लोग ऐसे भी हैं जो वास्तव में प्रेम कर पाते हैं।

10. यह human behaviour की खासियत है जहां कोई भी व्यक्ति अपनी गलती नहीं मानता…..बुरे से बुरे कार्य को करने की उसकी अपनी एक वजह होती है, जिससे उसे लगता है जो उसने किया वह बिल्कुल सही किया गया है।

11. किसी भी व्यक्ति को केवल इसलिए अच्छा नहीं कहा जा सकता क्योंकि वह अपनी पत्नी और बच्चे के साथ अच्छे से व्यवहार करता है, क्योंकि वह तो उसका कर्तव्य है, लेकिन असल में किसी की अच्छाई का पता तब लगता है जब वह ऐसे किसी के साथ अच्छा व्यवहार करता है जिनके साथ उनका कोई संबंध ना हो।

12. कोई बात छुपा रहा है या नहीं इसका पता लगाने की भी एक ट्रिक्स है जिस चीज को वह छुपा रहा है उसी के बारे में बात करना शुरू कर दें ऐसा करने पर वह अपने आप में काफी हड़बड़ा जाता है, आंखें चुराने लगता है और इसी घबराहट में या तो वह चुप रहता है या फिर बोलता भी है तो उसकी गति सामान्य से तेज होती है।

13. एक मानव का दिमाग दिन भर के 70% दिमाग भूतकाल की घटनाओं का रिप्ले कर रहा होता है या किसी आगामी घटना के सफलता की आशा कर रहा होता है।

14. आप जिस व्यक्ति से बात कर रहे हैं और उसके साथ आपकी बॉडी लैंग्वेज बदल जाती है। जब आप किसी ऐसे व्यक्ति से बात करते हैं जो आपका बहुत पसंदीदा है तो वह कठोर हो जाता है।

15. खुद को यह पूछने के लिए बहुत ही आत्मविश्वास की आवश्यकता होती है कि आप करना क्या चाहते हैं और फिर वही करे……… जो लोग आत्मविश्वास में कम होते हैं वह दूसरों को यह देखने के लिए तय करते हैं कि उन्हें क्या करना चाहिए।

16. कई लोग मानते हैं कि वह सम्मान देकर दूसरों का सम्मान प्राप्त कर सकते हैं। परंतु असल में सच्चाई यह है कि लोग लोगों का सम्मान नहीं करते लोग ताकत का सम्मान करते हैं। सम्मान देने में यदि आप कमजोर के रूप में सामने आते हैं तो आपको किसी भी व्यक्ति का सम्मान नहीं मिल पाता है।

17. यदि आप एक महिला है तो आपका लुक और फिगर मायने रखता है। वहीं यदि आप एक पुरुष है तो आपका बटुआ बहुत मायने रखता है,लेकिन यह सभी महिलाओं और पुरुषों पर लागू नहीं होता है, क्योंकि यह 21वीं सदी है।

18. जो लोग खुद को दूसरे के द्वारा हेर-फेर करते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि वह अपने जीवन को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त स्मार्ट नहीं है। इसलिए उन्हें किसी होशियार को अपने जीवन को नियंत्रित करने की जरूरत है।

19. महिला और पुरुष अलग-अलग समस्याओं का समाधान करते हैं। महिलाओं का भावनात्मक दृष्टिकोण होता है जबकि पुरुष कार्रवाई करते हैं।

20. एक धोखेबाज को यह लगता है कि दुनिया में हर कोई धोखा देता है और एक झूठे इंसान को यह लगता है कि हर कोई झूठ बोलता है। जो जैसा होता है उसे दुनिया ऐसी ही दिखाई पड़ती है।

21. जीवन में एक बार जब आप अपनी कमियों को स्वीकार कर लेते हैं तो कोई भी आपके खिलाफ कभी भी इसका उपयोग नहीं कर सकता है। यक्ह कमजोरी से आपकी ताकत बन सकती है।

22. जब आप वास्तव में किसी को चाहते हैं या किसी की बहुत परवाह करते हैं तो उस इंसान का मूड सच में आपकी मनोस्थिति को प्रभावित कर सकता है।

23. सच्चाई स्वीकार करना तब काफी एक इंसान के लिए मुश्किल हो जाता है, जब आपसे वह झूठ बोला जाता है जो वास्तव में आप सुनना चाहते थे।

24. ज्यादातर लोग इमानदारी से मानते हैं कि दूसरों के बारे में उनकी नकारात्मक राय सच है और उनके और उनके आत्मविश्वास से कोई संबंध नहीं है। वास्तव में दूसरों के अपमान ने उन्हें अपने आत्मसम्मान को बहाल करने में मदद की है।

Leave a Comment