Health

Skin Disease:- Types, Causes, Symptoms, and Treatment

skin disease
Written by admin

Top 20 types of common skin Disease

Contents hide
2 त्वचा संबंधी समस्याएं क्या है – What are the skin problems
2.1 त्वचा संबंधी बीमारियों के कारण – Causes of skin disease

हमारी त्वचा जो हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग माना जाता है जिसे खास ख्याल और देखभाल की जरूरत होती है, लेकिन कई बार बदलते मौसम के साथ हम कई ऐसी Skin disease से पीड़ित हो जाते हैं जो काफी दर्दनाक होती है इसलिए हमारे स्क्रीन की खास देखभाल की आवश्यकता होती है।

हमारी त्वचा की प्रतिक्रिया का सीधा असर हमारे शरीर पर पड़ता है। इसलिए आज हम आपको त्वचा से जुड़ी कुछ ऐसे रोगों के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि देखने में आम लगते हैं लेकिन उसका प्रभाव हमारे स्क्रीन पर काफी लंबे समय तक रहता है तो आइए जानते हैं इसकी skin disease के बारे में जो अलग-अलग तरह से हमारे स्क्रीन पर पाए जाते हैं।

Read this also…….21 SIGNS YOU WORK WITH AMAZING PSYCHOLOGICAL FACT ABOUT BRAIN

  1. त्वचा संबंधी समस्याएं क्या है
  2. त्वचा संबंधी बीमारियों के कारण क्या है
  3. कितने प्रकार की होती है त्वचा संबंधी समस्याएं
  4. त्वचा की देखभाल के आसान तरीके
  5. त्वचा में होने वाली बीमारियों के लक्षण
  6. स्किन डिजीज में किन चीजों से परहेज करें
  7. त्वचा की स्थिति के जोखिम कारक
  8. चर्म रोग दूर करने के घरेलू उपाय
  9. स्किन डिजीज से किस तरह बचे
  10. चर्म रोग का निदान
  11. त्वचा के विकार

त्वचा संबंधी समस्याएं क्या है – What are the skin problems

हमारी त्वचा इतनी कोमल होती है कि कोई भी संक्रमण या किसी भी तरह की बीमारी लापरवाही बरतने पर आसानी से हो सकती है। आपको बता दें कि बहुत ही ऐसी त्वचा समस्याएं हैं जिसका आसानी से इलाज किया जा सकता है वहीं कुछ ऐसी स्थिति अभी देखी गई है जिससे हमारी त्वचा पर काफी बुरा असर पड़ता है और इस बीमारी को ठीक होने में काफी समय लग जाते हैं।

Read this also…..THE 10 THINGS ABOUT LUNG CANCER AND CAUSES FOR HAVING LUNG CANCER.

त्वचा संबंधी बीमारियों के कारण – Causes of skin disease

Causes of skin diseases
Causes of skin diseases

1. अधिक मात्रा में रक्त चाप की दवाओं का सेवन करना

2. धूप की रोशनी

3. AIDS

4. कीमोथेरेपी

5. धूम्रपान एवं नशीले पदार्थों का सेवन

6. प्रतिरक्षा विकार

Read this also……महिलाओं में कमजोरी के कारण, लक्षण, एवं उपाय – WOMEN WEAKNESS IN HINDI.

कितने प्रकार की होती है त्वचा संबंधी समस्याएं – What are the types of skin Diseases

1. मुहासे – Skin diseases Acne

Skin diseases Acne
Skin diseases Acne

यह लोगों में होने वाली एक ऐसी आम समस्या है जिसे ज्यादातर लोग नजरअंदाज कर देते हैं। हालांकि यह देखा गया है कि यह ज्यादातर बुढे और व्यस्को में मुंहासे की बीमारी देखने को मिलती है। मुंहासे का इलाज मुश्किल है पर नामुमकिन नहीं पर ज्यादातर इसके शुरुआती लक्षणों को जानकर इसका इलाज कराया जाए तो यह बीमारी आसानी से और हमेशा के लिए खत्म हो सकती है। यह आम तौर पर हमारे चेहरे, कंधे पर नजर आता है।

2. एग्जिमा – Skin Diseases eczema

Skin Diseases eczema
Skin Diseases Eczema

यह एक ऐसी स्किन प्रॉब्लम मानी जाती है जो पीले या सफेद रंग का खुरदरा तरह का होता है। इसके अलावा एग्जिमा से जुड़ी एक आवश्यक बात आपको बता दें कि यह उन क्षेत्रों में ज्यादा कर देखा गया है जहां की स्किन चिकनी, तैलीय या खुजली वाले हो। इसके साथ भी यह देखा गया है कि यह स्किन प्रॉब्लम जहां भी होता है वहां के बालों का झड़ना शुरू हो जाता है।

3. मस्सा – Skin Diseases Warts

Skin Diseases Warts
Skin Diseases Warts

एक आम तरह की स्किन प्रॉब्लम जिसे हम वाल्ट भी कहते हैं। आपको बता दें कि मस्सा या तो लोगों को जन्म से ही होता है या टीनएज की आयु में उन्हे यह बीमारी होती है जहां लोगों को यह बात एक आम लगती है लेकिन बता दे कि यह कई तरह के वायरस से पैदा हो सकता है जिसे एचपीवी कहा जाता है। मस्सा या तो समूह में होता है या तो स्किन पर अकेले फैल जाता है।

4. दाद – Skin Diseases Ringworm

Skin Diseases Ringworm
Skin Diseases Ringworm

दाद और खुजली के लिए अनेकों दवाएं और प्रचार बाजार में मौजूद है, लेकिन वह लोगों के लिए कितना असरदार है यह लोगों की प्रतिक्रियाएं देख कर पता चल जाता है। आप दाद में यह देख सकते हैं कि स्क्रीन पर गोलाकार के चकत्ते बनने लगते हैं जो धीरे-धीरे लाल हो जाते हैं। जब त्वचा पर दाद हो जाती है वहां पर अधिक खुजली महसूस होने लगती है।

5. सोरायसिस – Skin Diseases Psoriasis

Skin Diseases Psoriasis
Skin Diseases Psoriasis

सोरायसिस एक ऐसी पुरानी बीमारियों में से एक है जो अनुवांशिक कारणों से भी हो सकता है। यह त्वचा पर पनपने के बाद काफी लाल और मोटा रूप ले लेता है। सोरायसिस ज्यादातर कोहनी और घुटनों पर दिखाई देता है। लेकिन कई बार यह भी देखा गया है कि सोरायसिस व्यक्ति के हाथ, सिर और जोरो पर भी फैलने में कामयाब हो पाया है।

6. पित्ती – Skin Diseases Hives

 Skin Diseases Hives
Skin Diseases Hives

हमें सब इसे एक त्वचा एलर्जी के रूप में जानते हैं जिसके होने का मुख्य कारण रक्त प्रवाह में एंटीबॉडी माना जाता है इसमें हर रोज एक नया घाव शरीर पर उत्पन्न होने लगता है जैसे जैसे पुराने घाव ठीक हो जाते हैं वैसे एक नया घाव उत्पन्न हो जाता है। इसमें हमें किसी खास चीज जिससे हमें एलर्जी होती है उससे हमें हमेशा बच कर रहना चाहिए और उसके संपर्क में बिल्कुल भी नहीं आना चाहिए।

7. रोसैशिया – Skin Diseases Rosacea

Skin Diseases Rosacea
Skin Diseases Rosacea

यह स्किन डिजीज चेहरे पर खास तौर पर अपने प्रभाव दिखाता है। यह मुहांसे के जैसा दिखता है पर यह उससे अलग है। त्वचा पर ज्यादा रसायनिक प्रयोग के कारण इस तरह की बीमारियों को अपने चेहरे पर देखा जा सकता है। इसका उपचार मौखिक दवाइयों द्वारा संभव है।

8. फफोले – Skin Diseases Blisters

Skin Diseases Blisters
Skin Diseases Blisters

फफोले भी वायरस के कारण होने वाले एक और ऐसा स्क्रीन प्रॉब्लम है जो आम तौर पर हमारे होठों के किनारे दिखाई देता है। जब भी यह होता है तो इसे ठीक होने में 7 से 10 दिन तक लग जाते हैं। आपको बता दें कि फफोले का उपचार काफी आसानी से किया जा सकता है पर यह जिस में जगह पर उत्पन्न होता है वहां काफी दर्दनाक पीड़ा महसूस होती है, जिससे परेशानी होती है इसे ठीक होने में थोड़ा वक्त लगता है।

9. छाला – Skin Diseases Ulcer

Skin Diseases Ulcer
Skin Diseases Ulcer

त्वचा के किसी भी हिस्से पर पानी से भरा एक ऐसा द्रव जो हमारे शरीर के किसी भी हिस्से पर हो सकता है। आपको बता दें कि या तो यह अकेले या तो समूह में पनपता है यह जिसकी जगह पर होता है उसके आसपास के स्कीन पर काफी दर्द महसूस होती है। इसके अलावा छालों को कभी भी फोड़ने से मनाही होती है, क्योंकि इससे छालों के और भी ज्यादा फैलने की आशंका होते हैं।

10. खसरा – Skin Diseases Measles

Skin Diseases Measles
Skin Diseases Measles

खसरा एक ऐसी स्किन डिजीज होती है जिसमें आपके शरीर पर लाल दाग नजर आने लगते हैं। खसरा के लक्षण में आपके शरीर पर बुखार गले में खराश लाल पानी आंखें और भूख ना जाए समस्या उत्पन्न होने के लक्षण नजर आने लगते हैं। आप यह देख सकते होंगे कि खसरा में नीले सफेद केंद्रों के साथ छोटे लाल धब्बे मुंह के अंदर दिखाई देते हैं।

11. कोशिका

यह एक ऐसी स्कीन डिजीज है जो बैक्टीरिया के संपर्क में आने से हो सकती है। इसके अलावा आपको बता दें कि इसकी स्थिति काफी दर्दनाक होती है इसमें आप को बुखार ठंड लगना और स्किन पर लाल चकत्ते महसूस हो सकते हैं जिसके लिए आपको एक सही चिकित्सा परामर्श लेने की आवश्यकता होती है। इस स्थिति में स्क्रीन पर दरार या कट जाना जैसा दिखाई पड़ता है जो कि काफी सूजी नजर आती है।

12. कार्सिनोमा – Skin Diseases Carcinoma

Skin Diseases Carcinoma
Skin Diseases Carcinoma

यदि किसी को धूप से इंफेक्शन है तो उस स्थिति में ज्यादा देर धूप में रहने पर हमें यह बीमारी हो जाती है। जिस वजह से हमारा कान, चेहरा और हाथ के पीछे वाला हिस्सा ग्रसित हो जाता है। कार्सिनोमा में एक लाल रंग का घाव होता है जो धीरे-धीरे बढ़ता ही जाता है। कई बार ऐसी स्थिति में खून आना भी शुरू हो जाता है।

Read this also……HEART-HEALTHY DIET PLAN IN HINDI:- SOME FOODS THAT PREVENT HEART DISEASE.

त्वचा की देखभाल के आसान तरीके – Easy Skin Care Methods

1. जब भी धूप में बैठे तो अपने चेहरे को सुरक्षित रखें। आप चाहे तो इससे पहले अपने चेहरे पर सनस्क्रीन लगा सकती हैं जो आपको धूप से आसानी से बचा सकता है।

2. हर रोज नहाएं, इससे फायदा यह होगा कि यह आपकी त्वचा के स्केल को शांत करने में मददगार साबित होता है।

3. जितना संभव हो सके अपने स्क्रीन पर मोस्टचराइजर्ड का प्रयोग करें, क्योंकि आपको यह जानकारी दे दे कि मोस्ट राइजर हमारे शरीर पर पानी को आने से रोकता है और किसी भी तरह की एलर्जी से हमें बचाता है।

4. शराब से कोसों दूर रहे यह एक सबसे उपयुक्त तरीके हैं जो लोग शराब और नशीली चीजों का सेवन करते हैं।

5. अपनी त्वचा की सही देखभाल के लिए एक पर्याप्त और सही तरह के आहार लेने की सलाह दी जाती है, क्योंकि आहार त्वचा को हाइड्रेट करते हैं और उनके जोखिम को कम करने में सहायक होते हैं।

Read this also……CAUSES OF DIABETES, ITS SYMPTOMS, AND REMEDIES मधुमेह होने के कारण क्या क्या है।

त्वचा में होने वाली बीमारियों के लक्षण – Symptoms of skin diseases

 Symptoms of skin diseases
Symptoms of skin diseases
  • लाल या सफेद रंग के दाग
  • दर्द भरी खुजली
  • अल्सर
  • त्वचा का छिलना
  • सुखी व फटी त्वचा
  • मस्से और थक्का
  • दिल के आकार में परिवर्तन
  • खुरदरा पन
  • त्वचा का रंग बिगड़ना
  • त्वचा पर फीके रंग के निशान

Read this also…….सर्दियों मे खाए जाने वाले फल- WINTER FRUITS TO EAT.

स्किन डिजीज में किन चीजों से परहेज करें – What are the things to avoid in skin disease

स्किन डिजीज कई कारणों से भी होती है जिसे हम यह भी गौर करें तो आसानी से ठीक हो सकती है तो आइए जानते हैं उन सूची के बारे में जिससे हमें स्किन डिसीज में परहेज करना चाहिए

1. तेल युक्त खाद्य पदार्थ – Oily Foods

अधिक तेल से बना हुआ खाना आमतौर पर भी हमारे लिए काफी नुकसानदेह माना जाता है। इसलिए जितना संभव हो सके अपने खाने में कम से कम मात्रा में तेल का उपयोग करें। इसके साथ ही एक महत्वपूर्ण कारक जो जिम्मेदार है वह है नमक……. नमक का उपयोग ज्यादा करने से भी स्किन प्रॉब्लम होती है। इसलिए केवल थोड़े मात्रा में इन चीजों के सेवन करके आप स्किन प्रॉब्लम से निजात पा सकते हैं।

2. सिगरेट – cigarette

सिगरेट से सिर्फ हमें कैंसर होने की संभावना नहीं होती लेकिन उससे पहले यह हमारी त्वचा को भी प्रभावित करती है।अधिक सिगरेट के सेवन से हमारी हथेलियों और तलवों पर अधिक रोग होने की संभावना होती है, क्योंकि जिन्होंने सिगरेट पीना छोड़ दिया है उनकी स्थिति में काफी सुधार देखा गया है और उनके स्कीन पर भी काफी परिवर्तन देखने को मिले हैं।

3. मिर्च मसाले – Chili spices

अक्सर लोगों को तीखी मिर्च वाले भोजन और मसालेदार सब्जियां खाने की आदत होती है, लेकिन आपको बता दें कि आप अपने स्वार्थ को बढ़ाने के लिए अपनी स्क्रीन डिजीज को अंजाम देते हैं। जहां अक्सर त्वचा की समस्याओं की जड़ लीवर मानी जाती है। गलत तरह के खानपान से हमारा लीवर सही तरह से काम नहीं कर पाता है जिससे भी हमें स्किन डिजीज होने की आशंका बनी रहती है।

4. शक्कर और सोडा – Sugar and Soda

सोडा वाले ड्रिंक और शक्कर युक्त खाद्य पदार्थ से भी त्वचा रोगों की समस्या देखी गई है। आपको बता दें कि बाहर के खाने जैसे फास्ट फूड, पिज़्ज़ा, बर्गर और पेस्ट्री के सेवन करने से आपकी स्किन प्रभावित होती है। इसलिए या तो इनका सेवन करना बंद कर दे या काफी कम मात्रा में सेवन करें ,क्योंकि आप शायद यह नहीं जानते होंगे कि बाहर के भाषण में आर्टिफिशियल स्वीटनर मिला होता है जो हमारे सिस्टम को खराब कर देता है।

5. शराब – Alcohol

कुछ लोग शराब शौक से पीते हैं और कुछ लोगों को इसकी आदत होती है, लेकिन आपको बता दें कि शौक हो या लत यह आपको स्कीन के रोगों की समस्या दे सकती है, क्योंकि शराब से चर्म रोग काफी तेजी से बढ़ता है और फैलता है।यदि आप मुहासों या सोरायसिस की बीमारी से जूझ रहे हैं तो फिर आप को शराब का सेवन करना बिल्कुल ही बंद कर देना चाहिए।

Read this also…….रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के तरीके (METHODS TO INCREASE IMMUNITY POWER).

त्वचा की स्थिति के जोखिम कारक – Risk factors of skin condition

  • गोरी त्वचा
  • वजन बढ़ना
  • तनाव
  • धूम्रपान
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली
  • सनबर्न का इतिहास
  • वायरल संक्रमण
  • परिवार का इतिहास
  • 30 वर्ष से अधिक आयु

Read this also…….WEIGHT LOSS DIET PLAN IN HINDI – वजन कम करने के आसान उपाय

चर्म रोग दूर करने के घरेलू उपचार – Home remedies to remove skin disease

1. अलसी के बीज – Flaxseed Seeds

अलसी के बीज चर्म रोग की स्थिति के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। जहां स्किन डिसऑर्डर्स आफ एग्जिमा और सोरायसिस से छुटकारा दिलाता है। आपको यह जानकारी दे दे कि अलसी एक ऐसा आयुर्वेदिक नुस्खा माना जाता है जिसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है। यह हमारे शरीर में डाइजेशन की प्रक्रिया को सही करता है आप चाहे तो अधिक फायदे के लिए अलसी के तेल की एक से दो चम्मच का सेवन कर सकते है।

2. जैतून का तेल – Olive oil

जैतून का तेल स्किन डिजीज में काफी उपयोगी माना जाता है। सबसे पहले आप जैतून के तेल को नमक के साथ मिला लें उसके बाद इस मिश्रण को अपनी उत्सव चा पर लगाएं जहां आपको परेशानी हो। जब आप इस मिश्रण का उपयोग कर ले तो इससे थोड़ी देर के लिए मसाज करें जो कि प्रभावशाली होता है जिसके बाद आप आसानी से अपनी त्वचा को साबुन से धो सकते हैं।

3. बेकिंग सोडा – Baking soda

आपने शायद यह पहली बार सुना होगा कि अपनी त्वचा पर बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करके रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है लेकिन यह बिल्कुल सत्य है, क्योंकि बेकिंग सोडा में केमिकल का असर कम होता है इसलिए यह सबसे अच्छा उपाय माना जाता है। आप पानी में बेकिंग सोडा मिलाकर इसका मिश्रण बनाकर इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगा कर थोड़ी देर बाद अपनी त्वचा को पानी से धो सकते हैं।

4. दही – Curd

दही एक बहुत ही आसानी से उपलब्ध होने वाला ऐसा घरेलू नुस्खा माना जाता है जिसमें लैक्टिक एसिड मौजूद होता है। दूध की वसा त्वचा को मर्सराइज करती है इसलिए यह एक बेहतर उपायों में से एक माना जाता है। तीन-चार चम्मच दही ले और प्रभावित क्षेत्रों पर लगाकर उसे सूखने दें उसके बाद आप अपनी त्वचा को साफ तरीके से साबुन से साफ कर सकते हैं।

5. हल्दी – Turmeric

सभी लोगों के लिए रामबाण और मशहूर मारे जाने वाली हल्दी त्वचा संबंधी बीमारियों का इलाज करने के लिए एक बेहतरीन उपाय माना जाता है। यदि आप रोजाना हल्दी का सेवन करते हैं तो इससे आपको काफी फायदे होते हैं अन्यथा आप चाहे तो इसमें चावल मिलाकर खा सकते हैं क्योंकि इसमें साइट्रस का स्वाद मौजूद होता है।

Read this also……SUPERFOODS FOR HEALTH:- 25 FOODS TO INCLUDE IN OUR DIET PLAN

स्किन डिजीज से किस तरह बचे – How to avoid skin disease

  1. अपने हाथ को जब भी धोने साबुन और गर्म पानी से ही धोने की कोशिश करें।
  2. खाने के सामान्य पीने की कोई चीज किसी दूसरे के साथ बिल्कुल भी साझा ना करें।
  3. जिन भी लोगों को किसी तरह की स्किन डिजीज है उनके साथ संपर्क में आने से बचें।
  4. किसी भी सार्वजनिक स्थान जैसे जिम के उपकरण को छूने से पहले इसे साफ करे।
  5. 7 घंटे की पर्याप्त नींद रात को अवश्य लें।
  6. दिन में सात से आठ गिलास पानी जरूर पिएं।
  7. किसी भी तरह की शारीरिक या मानसिक तनाव से खुद को कोसों दूर रखें।
  8. स्वस्थ आहार लें।
  9. चिकन पॉक्स के लिए टीका अवश्य लगाएं।

Read this also……..TYPHOID FEVER: CAUSES, SYMPTOMS, AND HOME TREATMENT IN HINDI.

चर्म रोग का निदान – Skin disease Treatment

1. पैच टेस्ट – Patch test

Skin disease Treatment Patch test
Skin disease Treatment Patch test

यह टेस्ट तो किस तरह की एलर्जी है यह पता लगाने के लिए किया जाता है। इसके माध्यम से आप आसानी से या जान पाते हैं कि आपको वास्तव में किस चीजों से दूरी रखना है।

2. बायोप्सी – Skin disease Treatment Biopsy test

Skin disease Treatment Biopsy test
Skin disease Treatment Biopsy test

बायोप्सी का उपयोग त्वचा कैंसर के निदान के लिए उपयोग किया जाता है।इस टेस्ट के दौरान त्वचा के एक छोटे से भाग को हटाया जाता है। इसके बाद सही तरह की एवं आगे की जांच के लिए इसे प्रयोगशाला में भेजा जाता है ताकि सही जानकारी प्राप्त हो सके।

3. कल्चर टेस्ट – Skin disease Treatment Culture test

Skin disease Treatment Culture test
Skin disease Treatment Culture test

कल्चर टेस्ट ऐसा टेस्ट होता है जिसके माध्यम से हमारी त्वचा में संक्रमण को पहचानने में आसानी होती है। कल्चर टेस्ट के दौरान त्वचा, बाल और नाखून का सही तरह से जांच और परीक्षण किया जाता है।

Read this also…….HOW TO GAIN WEIGHT FAST BY HOME REMEDIES AND AYURVEDIC TREATMENT

त्वचा के विकार – Skin disorders

Skin disorders
Skin disorders
  • Skin के छिद्रों और बालों के रोम में फंसे बैक्टीरिया
  • त्वचा पर रहने वाले परजीवी और सूक्ष्म
  • प्रतिरक्षा प्रणाली की कमजोरी
  • एलर्जी करने वाले पदार्थों या किसी अन्य व्यक्ति की संक्रमित त्वचा के साथ संपर्क में आना

Leave a Comment