Health

महिलाओं में कमजोरी के कारण, लक्षण, एवं उपाय – Women Weakness in hindi.

weakness in women
Written by admin

महिलाओं की शारीरिक संरचना पुरुष के मुकाबले अलग होती है, इसलिए हम आपको यह बताएंगे कि Women weakness से आप किस तरह से निजात पा सकती है।

Women Weakness
Women Weakness

महिलाओं में कमजोरी के कारण क्या है – Cause of weakness in women

Contents hide
2 महिला में कमजोरी के लक्षण क्या-क्या है – Symptoms of women weakness

शरीर आपका किस तरह काम करता है यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है। वैसे आपको बता दें कि शारीरिक कमजोरी होना कोई बड़ी समस्या नहीं है, लेकिन इसका उपाय करना इससे भी जरूरी माना जाता है। वही आपको यह भी बता दे कि महिलाओं की शारीरिक संरचना पुरुष के मुकाबले अलग होती है। जहां हर महीने मासिक धर्म के कारण भी महिलाओं में शारीरिक कमजोरी देखी जा सकती है। इसलिए हमेशा महिलाओं को विशेष तौर पर स्वस्थ रहने की एवं स्वस्थ आहार लेने की सलाह दी जाती है। जहां आज हम आपको यह बताएंगे कि Women weakness से आप किस तरह अपनी कमजोरी से निजात पा सकती है तो आइए जानते हैं कुछ महत्वपूर्ण कारकों के बारे में:-

Read this also…..सेक्स ड्राइव बढ़ाने के लिए खाएं ये चीजें – FOODS THAT INCREASE SEX DRIVE IN HINDI.

  1. महिला में कमजोरी के लक्षण क्या-क्या है
  2. महिलाओं में कमजोरी दूर करने के उपाय
  3. कमजोरी को दूर करने के आसान घरेलू उपाय
  4. महिलाओं की कमजोरी दूर करने के आयुर्वेदिक उपचार
  5. कैसे पहचाने कि आपको थकान है
  6. गर्भवती महिला में शारीरिक कमजोरी
  7. 30 कि उम्र के बाद महिलाओं में कौन सी बीमारी का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है

महिला में कमजोरी के लक्षण क्या-क्या है – Symptoms of women weakness

Symptoms of women weakness
Symptoms of women weakness

1. लगातार बुखार थकान और दस्त की समस्या

2. हमेशा शरीर में असामान्य तरीके से दर्द होना और अनियमित महामारी women weakness के कुछ आम लक्षण है।

3. शरीर में पर्याप्त ऊर्जा की कमी हमेशा आलस महसूस होना

4. ठीक से नींद ना आना

5. पेशाब का रंग बदलना एवं धुंधला हो जाना

6. हमेशा शरीर में कपकपी होना एवं डाइरिया की समस्या भी महिलाओं में कमजोरी के समय नजर आती है।

7. अचानक उठने बैठने में चक्कर महसूस होना

8. चिंता और डिप्रेशन होना एवं कई बार याददाश्त कमजोर होना

9. भूख कम लगना, हमेशा बीमार रहना भी एक आम लक्षण देखा गया है।

10. अनियमित माहवारी की समस्या के कारण शरीर में खून की कमी होना।

Read this also…….VAGINAL ITCHING: 11 THING YOU’RE FORGETTING TO DO – योनि में खुजली के लक्षण

महिलाओं की कमजोरी दूर करने के उपाय – Measures to overcome the weakness of women

Overcome the weakness of women
Overcome the weakness of women

1. बादाम – Almond

Almond
Almond

शरीर को पर्याप्त ऊर्जा पहुंचाने के लिए आप बादाम का सेवन कर सकती है। खासतौर पर यह महिलाओं के लिए बहुत प्रभावशाली माना जाता है। आपको बता दें कि बादाम में भरपूर मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है। आप हर रोज़ दो बादाम, एक सूखे अंजीर और थोड़ी सी किसमिस रात को पानी में भिगो दें। सुबह इस पानी से इन्हें निकाल कर आप बादाम को छीलकर इसका सेवन कर सकते हैं।

Read this also……पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग रोकने के घरेलू उपाय- HEAVY BLEEDING IN PERIODS.

2. अनार – Pomegranate

Pomegranate
Pomegranate

अनार ऐसा फल होता है, जिससे हमारे शरीर को महत्वपूर्ण ऊर्जा प्रदान होती है।आपको यह भी जानकारी दे दे कि अनार एक ऐसा फल माना जाता है, जो हमें सैकड़ों बीमारियों से छुटकारा दिलाता है। यह महिलाओं में दिल की बीमारी एवं अन्य सभी खतरों को कम करता है। इसलिए कमजोरी की समस्या हो तो अनार का छिलका सुखा लें और इसका पेस्ट बनाकर इस्तेमाल करें।

Read this also……..महिलाओं में कामेच्छा को कैसे बढ़ाएं-HOW TO INCREASE SEXUAL DESIRE IN WOMEN.

3. कॉफी – Coffee

Coffee
Coffee

मानसिक तनाव और कमजोरी को ठीक करने के लिए महिलाओं को कॉफी का सेवन करना चाहिए। जहां आपको बता दें कि कॉफी पीने से आपकी शारीरिक दुर्बलता आसानी से खत्म हो सकती है और यह महिलाओं के शरीर में जरूरी ऊर्जा का विस्तार करता है। आप इसके सेवन से अपने अंदर सभी रोगों को खत्म कर सकते हैं। हर रोज आप सुबह या शाम को कॉफी का सेवन कर सकते हैं।

Read this also…….अपने पार्टनर को बेड पर संतुष्ट कैसे करे – HOW TO SATISFY YOUR PARTNER IN HINDI.

4. घी – Ghee

Ghee
Ghee

अच्छी सेहत के लिए भी हमेशा से महत्वपूर्ण माना जाता है। यदि महिलाओं को कमजोरी महसूस होती है या उन्हें दुर्बलता की शिकायत है तो आप हर रोज़ अपने खाने में घी का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप घी को शहद के साथ भी शाम के भोजन के बाद ले सकते हैं। यह आपकी कमजोरी को तो दूर करता ही है इसके साथ ही यह आपके अंदर याददाश्त की शक्ति को भी बढ़ाता है।

Read this also……गर्भ धारण करने की पोजीशन- BEST SEX POSITION TO GET PREGNANT.

5. मुनक्का – Dry Grapes

Dry Grapes
Dry Grapes

यह हर तरह से हमारे स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है। रात को मुनक्का भिगो दें। इसके बाद हर रोज सुबह इससे खाली पेट सेवन करने से फायदे होते हैं। इस तरीके को हर रोज यदि आप अपनाते हैं तो आप शारीरिक रूप से हमेशा मजबूत एवं तंदुरुस्त रह सकते हैं।

Read this also…….दिल को स्वस्थ रखने वाले आहार। HEART-HEALTHY DIET.

कमजोरी दूर करने के आसान घरेलू नुस्खे – Home Remedies to stay away from Weakness

Home Remedies to stay away from Weakness
Home Remedies to stay away from Weakness

1. रात को सोने से पहले लहसुन की दो कलियों को खाएं। इसके बाद थोड़ा पानी का सेवन करें।

2. यदि आप टमाटर की सूप का सेवन करते हैं तो इससे आपकी भूख बढ़ती है और इससे आपकी शारीरिक कमजोरी भी खत्म हो जाती है।

3. यदि आप ठंडे पानी में नमक मिलाकर सेवन करते हैं तो यह आपको सारी थकान से राहत पहुंचाता है।

4. एक चम्मच शहद में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर सेवन करने से आपको किसी भी तरह की कमजोरी महसूस नहीं होती है।

5. हर रोज सोते समय चार पांच छोहाडे और दो-तीन काजू और दो बादाम को एक गिलास दूध में खूब अच्छी तरह उबाले और इसके पकने के बाद इसमें 2 चम्मच मिश्री डालकर इसका सेवन अवश्य करें।

6. यदि किसी महिला को शारीरिक कमजोरी महसूस होती है तो उन्हें नीम के छाल का काढ़ा पीने की सलाह दी जाती है।

7. हर रोज एक केला एक गिलास दूध के साथ पीने से काफी शक्ति मिलती है। इससे शरीर में चर्बी और शक्ति दोनों बढ़ती है।

8. जायफल और जावित्री दोनों को 10-10 ग्राम लेकर उस मिश्रण को हर रोज दूध के साथ लेने से आपको शक्ति मिलती है।

9. नारियल के सेवन से भी आप शरीर को बलवान कर सकते हैं, जिसके शक्ति वर्धक तत्व आप को मजबूत बनाते हैं।

10. टमाटर भी शारीरिक कमजोरी के लिए काफी प्रभावशाली माना जाता है।

Read this also…….CAUSES OF DIABETES, ITS SYMPTOMS, AND REMEDIES मधुमेह होने के कारण क्या क्या है।

महिलाओं की कमजोरी दूर करने के आयुर्वेदिक उपचार – Ayurvedic Treatment to remove Women weakness

Ayurvedic Treatment to remove Women weakness
Ayurvedic Treatment to remove Women weakness

शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए कई ऐसे आयुर्वेदिक नुस्खे हैं,जिसके माध्यम से आप इसके नियमित उपयोग करके महिलाएं अपनी कमजोरी को दूर कर सकती है और अपनी ताकत बढ़ा सकती है।

Read this also……..सर्दियों मे खाए जाने वाले फल- WINTER FRUITS TO EAT.

1. मुलेठी – Liquorice

Liquorice
Liquorice

मुलेठी एक ऐसी प्राकृतिक जड़ी-बूटियों में से एक मानी जाती है, जो महिलाओं की कमजोरी को एवं शारीरिक विकास में अहम योगदान देता है। मुलेठी का इस्तेमाल करने से यह आपके हारमोंस को प्रेरित करता है और आपके शरीर को जरूरतमंद ऊर्जा प्राप्त करता है। वही आपको यह भी बता दे कि मुलेठी के सेवन से आप की चयापचय को बढ़ोतरी मिलती है और अंदर से यह आप को मजबूत बनाता है।

Read this also…….रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के तरीके (METHODS TO INCREASE IMMUNITY POWER).

2. आंवला – Amla

Amla
Amla

आंवला में काफी अधिक मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर को कई तरह से प्रभावित करते हैं। आंवला में भरपूर मात्रा में विटामिन सी, कैल्शियम और प्रोटीन की मात्रा होती है। दो चम्मच आंवले के रस में दो बराबर मात्रा में शहद मिलाकर इस मिश्रण को दिन में दो से तीन बार सेवन करें। यदि आप नियमित तौर पर इसका सेवन करते हैं तो केवल कुछ ही दिन में आप शारीरिक कमजोरी से निजात पा सकते हैं।

3. लहसुन – Garlic

Garlic
Garlic

आमतौर पर लहसुन का इस्तेमाल हम अपनी रसोई में करते हैं, लेकिन आपको बता दें कि लहसुन में एक ऐसा आयुर्वेदिक गुण पाया जाता है, जो हमारे इम्यून सिस्टम को काफी मजबूत बनाता है। एवं हमें हमारे शारीरिक कमजोरी को भी दूर करता है। इसलिए महिलाओं को लहसुन खाने की सलाह दी जाती है हर रोज सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लहसुन का सेवन करना चाहिए, जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

4. योगा – Yoga

Yoga
Yoga

योगा करने से आप हर तरह की परेशानी से दूर रह सकते हैं। सुबह आधे घंटे तक योगा और शाम को मॉर्निंग वॉक करने से आपके शरीर को ढेरों सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है। इससे हमारी फुर्ति भी बनी रहती है और हम हर तरह से काम करने की क्षमता रखते हैं। योगा के माध्यम से आप बीमारियों से कोसों दूर रह सकते हैं एवं हर रोज तरोताजा महसूस कर सकते हैं।

कैसे पहचाने कि आपको थकान है – How to know if you are tired

know if you are tired
Know if you are tired

आम तरह से थकान महसूस होना एक सामान्य कारण है। जहां महिलाएं घर के काम एवं अन्य तरह से शारीरिक परिश्रम की वजह से थक जाती हैं। पर आपको बता दें कि कई बार ऐसा देखा गया है कि सही खानपान और हर तरह के सही दिनचर्या के बावजूद भी महिलाओं में कमजोरी एवं थकान महसूस होती है। इसलिए उन्हें अपने आराम करने की अवधि को थोड़ा बढ़ाना चाहिए। इसके अलावा आप चिकित्सा परामर्श से भी अपनी कमजोरी को दूर कर सकते हैं। जिसके लिए आपको काम के बीच सही समय पर भोजन खाने एवं थोड़ा समय आराम करने की सलाह दी जाती है। यदि आप नियमित तौर पर इसका पालन करते हैं तो आप आसानी से अपनी दिनचर्या को बदल सकते हैं और आपके अंदर की थकान और कमजोरी खत्म हो सकती हैं।

गर्भवती महिलाओं में शारीरिक कमजोरी – Physical Weakness in women

Physical Weakness in women
Physical Weakness in women

गर्भवती महिला अपने साथ अतिरिक्त वजन लिए रहती है, जिसके कारण वह थका थका महसूस करती है, तो गर्भवती महिलाओं को शारीरिक कमजोरी से बचने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान देना होगा।

1. आपका शरीर जो भी संकेत देता है, उसे बिल्कुल भी नजरअंदाज ना करें। गर्भ अवस्था में जब भी आपको आराम करने की इच्छा महसूस हो तब आप आराम कर सकती है।

2. अपने खानपान पर खास तौर से ध्यान दें, एवं एक स्वस्थ आहार को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

3. हर रोज़ अपने शरीर की स्थिति के अनुसार हल्का व्यायाम करने की कोशिश करें। ऐसा करने से आपकी ऊर्जा बढ़ती है।

4. कभी-कभी अपने मन को मारे और अनावश्यक चीजों को बिल्कुल नजरअंदाज करें।

5. फल, सब्जियां, दूध उत्पाद, दलहन, अंडे और साबुत अनाज को अपने भोजन में अवश्य शामिल करें।

30 की उम्र के बाद महिलाओं में कौन सी बीमारी बढ़ने का खतरा ज्यादा रहता है – Disease after the age of 30

Disease after the age of 30
Disease after the age of 30

1. ब्रेस्ट कैंसर – Breast Cancer

Breast Cancer
Breast Cancer

यूं तो ब्रेस्ट कैंसर किसी भी उम्र की महिलाओं को हो सकता है। लेकिन 30 की उम्र के बाद इसका खतरा अधिक होता है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है ब्रेस्ट कैंसर का खतरा उम्र के साथ बढ़ता रहता है। अगर आपको स्तन में किसी भी तरह की तकलीफ महसूस हो या कोई बदलाव नजर आए तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

2. बालों का झड़ना – Hair fall

Hair fall
Hair fall

बालों के झड़ने की समस्या से अधिकतर महिलाएं परेशान रहती है, लेकिन 30 की उम्र के बाद ज्यादातर महिलाओं में झड़ते बालों की समस्या आम देखी जाती है। इसका मुख्य कारण तनाव और बच्चे का जन्म हो सकता है।

3. वजन बढ़ना – Weight Gain

Weight Gain
Weight Gain

मोटापा कई बीमारियों को न्योता देता है। अचानक से वजन बढ़ने का मुख्य कारण थायरॉयड और कोलेस्ट्रोल हो सकता है। इसलिए 30 की उम्र होते ही थायरॉयड, कोलेस्ट्रोल और डायबिटीज की जांच जरूर करवा लें।

4. हाई ब्लड प्रेशर – High blood Pressure

High blood Pressure
High blood Pressure

ज्यादा मोटापा और गर्भनिरोधक गोलियां लेने से महिलाओं का ब्लड प्रेशर हाई हो जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिन महिलाओं में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है उनको प्रेग्नेंसी के दौरान कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। बता दें, 30 की उम्र के बाद तनाव और ज्यादा नमक के सेवन से भी ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।

5. नजर कमजोर होना – Less Vision

Less Vision
Less Vision

बढ़ती उम्र के साथ शरीर में न्यूट्रिशन का स्तर कम होने लगता है, जिस वजह से अधिकतर लोगों की नजर कमजोर हो जाती है। हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, शरीर में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और जिंक की कमी होने से लोगों को धुंधला दिखाई देने लगता है। माइग्रेन से भी आंखों की रोशनी पर बुरा असर पड़ता है।

Leave a Comment