Life & Relationship

एक अच्छा और सच्चा दोस्त कैसे बने

Nice and True Friend
Written by admin

एक अच्छा और सच्चा दोस्त कैसे बने
दोस्त हमारे जीवन में वह शख्स होता है जिसे हमारी कमजोरी से लेकर हमारी ताकत का अंदाजा होता है। एक ऐसा शख्स जो आपको इस दुनिया में सबसे ज्यादा जानता हो। वो कहते हैं ना जो मजे दोस्तों के साथ वक्त बिताने और घूमने में है वह मजा कहीं और कहां, तो बस इसी से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि एक सच्चा और अच्छा दोस्त हमारे जिंदगी में क्या अहमियत रखता है। तो अब बताते हैं कि आप कैसे एक सच्चे दोस्त बन सकते हैं, और सच्चे दोस्तों की पहचान क्या है।

पहले एक सच्चा दोस्त बनने के लिए दिल से सच्चा और साफ होना पड़ेगा

1. सबसे पहले एक सच्चा दोस्त बनने के लिए आपको वाकई दिल से सच्चा और साफ होना पड़ेगा और आपको हमेशा अपने दिल में उस दोस्त के लिए खास जगह और अपनी जिंदगी में खास वक्त रखना होगा। कभी भी झूठ ना बोले, क्योंकि इससे किसी इंसान को बहुत तकलीफ हो सकती है। हमेशा सच्चाई और अच्छाई के साथ-साथ पूरी इमानदारी अपनी दोस्ती के प्रति दिखाएं। क्योंकि अगर हम अच्छे दोस्त बनाते हैं तो वह हमारे बुरे से बुरे वक्त में भी खड़े होते हैं। तो इसलिए इस रिश्ते को हमेशा सबसे ज्यादा प्राथमिकता के साथ रखें

एक सच्चा दोस्त बनने के लिए दोस्त की बुराई ना करें वह भी किसी और से

सबसे जरूरी बात कभी अपने दोस्त की बुराई ना करें वह भी किसी और से, वह कहते हैं न अगर उसके सामने बोलोगे तो उतनी तकलीफ नहीं होगी जितनी पीठ पीछे सुनने से होती है। तो बस अगर आपको कोई भी किसी भी तरह की समस्या है तो आप अपने दोस्त से खुद सामने जाकर बात करें, ना कि उसकी बुराई किसी और से करें। ऐसा करने से दोस्ती में धीरे-धीरे दरार आने लगती है जो कि एक भयानक मोङ ले लेती है।

एक सच्चा दोस्त बनने के लिए अपने दोस्त को महत्वपूर्ण महसूस कराएं

इससे भी जरूरी बात जो एक सच्चा और अच्छा दोस्त बनने के लिए सबसे जरूरी है वह है महत्वपूर्णता आप कभी अपने दोस्त को ये महसूस ना होने दें की वह आपके लिए सिर्फ एक ऐसा शख्स है जो सिर्फ जरूरत के वक्त आपको नजर आता है, जी नहीं ऐसा बिल्कुल भी मत करें, उसे आप सबसे ज्यादा महत्व दे, अपनी सारी बातें उससे साझा करें चाहे आपका दुख हो या सुख। आपको अपने दोस्त का साथ हर घड़ी में देना है चाहे उस पर मुसीबतों का पहाड़ हो या वह दुखी हो क्योंकि दुख और मुसीबत की घड़ी में ही पता चलता है कि कौन अपना है और कौन पराया, सबसे महत्वपूर्ण बात जो आपकी दोस्ती के रिश्ते की बुनियाद होती है वह है भरोसा। हमेशा अपने दोस्त पर भरोसा दिखाएं। उस पर विश्वास करें ताकि वह अपनी बातें आपके सामने साझा करने से कतराए नहीं, बेझिझक सब कुछ बोल दे और कहते हैं ना कि दोस्ती में कुछ सोचते नहीं जो दिल में होता है बोल देना चाहिए शायद इसलिए इस रिश्ते को इस दुनिया का सबसे खूबसूरत रिश्ता माना जाता है। जिसकी जगह कभी मोहब्बत नहीं ले सकती।

एक सच्चा दोस्त बनने के लिए आप उस रिश्ते को समझे, निभाए

आपको बता दें कि यदि आप एक अच्छा दोस्त बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आप में या काबिलियत होनी चाहिए कि आप उस रिश्ते को समझे, निभाए। हमेशा अपने दोस्तों के साथ घूमे, वक्त गुजारे, अच्छी अच्छी यादें बनाए। इससे आपकी दोस्ती की जड़ और भी मजबूत होती है। और सबसे जरूरी बात कभी किसी और के कहने पर कभी अपनी दोस्ती पर शक ना करें। ऐसे बहुत से रिश्ते शक के कारण बिखर जाते हैं। इससे भी जरूरी बात यह है कि आजकल के इस दौर में कोई अकेला नहीं रहना चाहता हर कोई चाहता है कि उसके दोस्त हो जिसके साथ वह पार्क में खेले, मूवी जाए, मस्ती करें क्योंकि इस भागदौड़ भरी जिंदगी में एक दोस्त ही तो होते हैं जिनके साथ मिलकर बातें करके सुकून मिलता है जो सुकून इस दुनिया के शायद किसी कोने में नहीं है।

एक सच्चा दोस्त बनने के लिए आपको अपने दोस्त को कभी-कभी गाइड भी करना होगा

आपको बता दें कि एक सच्चा दोस्त बनने के लिए आपको अपने दोस्त को कभी-कभी गाइड भी करना होगा ताकि वह कभी अपने रास्ते से ना भटके और हमेशा सही निर्णय ले सके। इस बात से शायद कोई मुंह नहीं मोड़ सकता कि ज्यादातर लोग जैसे होते हैं वह अपने दोस्तों में भी वही खूबी देखना चाहते हैं। वैसे लोगों के साथ हमारी काफी अच्छी दोस्ती भी बनती है। आपको बता दें कि इंसान है तो गलतियां तो होंगी ही अच्छे दोस्त की जिम्मेदारी बनती है कि अपने दोस्तों को माफ कर अपने बीच हुए मनमुटाव को खत्म करें और कभी अपने दोस्ती के रिश्ते में दूरियां ना बनने दें इसके साथ ही अपनी सोच को हमेशा सकारात्मक रखें ज्यादा गलत ना सोचे हमेशा अपने दोस्त को वैल्यू दे उसकी इंपॉर्टेंस को समझें और हमेशा यह कोशिश करें कि आप अपने दोस्त का कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ा सके क्योंकि ऐसा माना जाता है कि जो लोग किसी का आत्मविश्वास बढ़ाते हैं वह उस शख्स के उतने ही करीब माने जाते हैं । आपको बता दें कि कभी भी अपने दोस्त की बेइज्जती ना करें , कभी भी कहीं भी अकेले में किसी के भी साथ क्योंकि यह कहीं ना कहीं गलत प्रभाव डालती है आपकी दोस्ती पर। एक सबसे महत्वपूर्ण बात आपके दोस्त जैसे हैं उन्हें वैसे ही रहने दीजिए उम्र में एक कोई बदलाव या उसे अपने तरीके से बदलने की कोशिश बिल्कुल भी ना करें और उसे यकीन दिलाएं की आप भरोसे के लायक है

Leave a Comment