Mutual Fund Stock Market Value Investing

What is Mutual Fund? How to Invest in Mutual Fund. जाने क्यों बेहतर है आपके लिए म्यूच्यूअल फण्ड

What is Mutual Fund? How to Invest in Mutual Fund. जाने क्यों बेहतर है आपके लिए म्यूच्यूअल फण्ड
Written by admin

क्या आप म्यूचुअल फंड्स (Mutual Fund) की स्कीम में निवेश (invest) करते हैं? निवेश(invest) करने से पहले म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) को जान लेना बहुत जरूरी है. इससे आपको निवेश (invest) के फैसले लेने में मदद मिलेगी.

What is Mutual Fund? How to Invest in Mutual Fund. जाने क्यों बेहतर है आपके लिए म्यूच्यूअल फण्ड

आज के इस दौर में म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट (Mutual fund investment) का एक नया नजरिया है। जहां म्यूच्यूअल फंड (Mutual fund) की सबसे अच्छी खासियत यह है कि इससे टैक्स सेविंग (Tax saving) मिलती है। म्यूचुअल फंड (Mutual fund) में एक फंड प्रबंधक होता है, जो फंड के निवेशकों (invest in funds) को निर्धारित करता है और लाभ और हानि (profit and loss) का हिसाब रखता है।

आपको बता दें कि म्यूचुअल फंड कंपनी (mutual fund company) सभी निवेशकों के निवेश राशि को लेकर इकट्ठा करती है और उनसे कुछ सुविधा शुल्क भी लेती है। फिर इस राशि को उनके लिए बाजार में निवेश करती है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें निवेश करने वालों को चिंता की जरूरत नहीं होती कि आप कब शेयर खरीदे या बेचे, क्योंकि यह चिंता फंड मैनेजर (fund manager) की होती है। ज्यादातर लोग यह समझते हैं कि म्यूच्यूअल फंड काफी (mutual fund company) पेचीदा और जोखिम भरा होता है, लेकिन इसके बारे में जानकारी ले लेने के बाद और अच्छी समझ के बाद वह काफी सरल लगने लगता है। आपको बता दें कि म्यूच्यूअल फंड (mutual fund) के किसी डायरेक्ट प्लान में निवेश (invest) करने का फायदा यह है कि यहा आपको कमीशन नहीं देना पड़ता है, इसलिए लंबी अवधि के निवेश में आपका रिटर्न बहुत बढ़ जाता है।

कितने तरह के होते हैं म्यूच्यूअल फंड्स (Mutual funds)

कितने तरह के होते हैं म्यूच्यूअल फंड्स (Mutual funds)

1. इक्विटी म्यूच्यूअल फंड (Equity Mutual funds)

यह एक ऐसी स्कीम जानी जाती है, जो निवेशकों की रकम को सीधे शेयर में करती है। आपको बता दें कि छोटी अवधि में यह स्कीम जोखिम भरा हो सकता है, लेकिन लंबी अवधि में इसे आपको बेहतरीन रिटर्न कमाने में मदद मिलती है। यह आपके लिए जाना बेहद जरूरी है कि जिन निवेशकों को का वित्तीय लक्ष्य 10 साल बाद पूरा होना है वे इस तरह कि म्यूच्यूअल फंड (Mutual funds) स्कीम में निवेश (invest) कर सकते हैं।

2. डेट म्यूचुअल फंड (Date Mutual Fund)

अगर आप छोटी अवधि के वित्तीय लक्ष्य पूरे करने के लिए निवेशक (investors) इनमें निवेश (invest) कर सकते हैं। बताया जाता है कि 5 साल से कम अवधि के लिए इनमें निवेश करना ठीक माना जाता है। यह म्यूच्यूअल फंड स्कीम (Mutual fund scheme) शेयरों की तुलना में कमजोर स्कीम वाली होती है। वही इसमें फायदा यह है कि यह बैंक की फिक्स डिपाजिट की तुलना में बेहतर रिटर्न देती है।

3. हाइब्रिड म्युचुअल फंड ( Hybrid Mutual Fund)

एक ऐसा म्यूच्यूअल फंड स्कीम इक्विटी (Mutual fund scheme equity) और डेट दोनों में निवेश (invest) करती है। वही यह बाद में बहुत महत्वपूर्ण है कि इन्हें स्कीम को चुनते वक्त भी निवेशकों को अपने जोखिम उठाने की क्षमता का ध्यान रखना जरूरी है। हाइब्रिड म्युचुअल फंड स्कीम (hybrid mutual fund scheme) को 6 कैटेगरी में बांटा गया है।

4. सॉल्यूशन ओरिएंटेड स्कीम (Solution oriented scheme)

सॉल्यूशन ओरिएंटेड म्यूच्यूअल फंड स्कीम(Solution oriented mutual fund scheme) किसी खास लक्ष्य समाधान के हिसाब से बनी होती है। आप इनमें रिटायरमेंट स्कीम (retirement scheme) या बच्चे की शिक्षा जैसे लक्ष्य को दे सकते हैं। इन्हीं स्कीम में आपको कम से कम 5 साल के लिए निवेश करना जरूरी होता है।

कैसे करें निवेश ( How to invest)

सबसे जरूरी बात जो वाकई में आपको जानने की जरूरत है वह है आखिर कैसे निवेश कर सकते हैं म्यूचुअल फंड (mutual fund) में…….. तो आपको बता दें कि म्यूचुअल फंड में निवेश (invest in mutual fund) आप दो प्रकार से कर सकते हैं। lump-sum और SIP (systematic investment plan) .

लम सम में आप एक साथ बड़ी राशि जमा करते हैं और एसआईपी (SIP) में आपने सेट किए हुए महीनों तक छोटी-छोटी राशि जमा करते हैं। इस तरह कोई भी म्यूचल फंड (Mutual Fund) में आसानी से निवेश (Invest) कर सकते हैं। वास्तव में अगर वह पसंद के हिसाब से नहीं चल पाए इस रकम को शेयर सरकारी सिक्योरिटी डेट स्कीम, सेक्टर स्कीम, के साथ निवेश अन्य विकल्पों में लगाते हैं।

एसआईपी (SIP) और लंप सम इन्वेस्टमेंट (Lump Sum Investment) में अंतर
एसआईपी (SIP) और लंप सम इन्वेस्टमेंट (Lump Sum Investment) में अंतर
  1. एसआईपी (SIP) के माध्यम से निवेश (invest) करने से कई तरह से मदद मिलती है। जैसे कि यह आपको अनुशासन सीखने में मदद करता है। लम सम इन्वेस्टमेंट (Lump sum investment) को एकमुश्त निवेश भी कहा जाता है। इसमें किसी निर्धारित वक्त पर सिंगल पेमेंट की जाती है।
  2. एसआईपी निवेश (SIP Invest) कोई अलग इकाई नहीं है। यह म्यूच्यूअल फंड निवेश (Mutual Fund Invest) का एक तरीका है, जिसमें एक निश्चित राशि हर महीने एक निश्चित तारीख को काट ली जाती है। बताया जाता है कि जब मार्केट डाउन होता है उस समय किए गए इन्वेस्टमेंट (Investment) पर अच्छा रिटर्न मिलने की उम्मीद होती है। ज्यादातर रिस्क उठाने की चाहत रखने वाले लंप सम इन्वेस्टमेंट करने का रिस्क ले सकते हैं।
म्यूचुअल फंड (Mutual Funds) में पैसा लगाने से होने वाले फायदे:-
म्यूचुअल फंड (Mutual Funds) में पैसा लगाने से होने वाले फायदे:-
  • निवेश में विविधता
  • सरलता
  • पेशेवर विशेषज्ञ द्वारा देखरेख
  • कम खर्चा
  • कम टैक्स
  • सुरक्षित निवेश

Leave a Comment